मंगल ग्रह 15 वर्षों में पहली बार पृथ्वी के सबसे करीब पहुंचेगा

अगले मंगलवार को दोनों ग्रह एक - दूसरे से महज 5.76 करोड़ किलोमीटर की दूरी पर होंगे और शुक्रवार को मंगल ग्रह पृथ्वी से विपरीत दिशा में होगा.

मंगल ग्रह 15 वर्षों में पहली बार पृथ्वी के सबसे करीब पहुंचेगा

केप केनवेरल:

अब रात के समय आसमान में मंगल ग्रह को देखने का समय आ गया है. अगले सप्ताह हमोर सौर मंडल का यह लाल ग्रह 15 वर्षों में पहली बार पृथ्वी के सबसे नजदीक आ रहा है. अगले मंगलवार को दोनों ग्रह एक - दूसरे से महज 5.76 करोड़ किलोमीटर की दूरी पर होंगे और शुक्रवार को मंगल ग्रह पृथ्वी से विपरीत दिशा में होगा. इसका मतलब है कि मंगल ग्रह और सूरज पृथ्वी के ठीक दूसरी तरफ होंगे. इसी दिन दुनियाभर में पूर्ण चंद्र ग्रहण का अद्भुत नजारा दिखेगा. मंगल ग्रह जब पृथ्वी के समीप आएगा तो वह और दिनों के मुकाबले ज्यादा चमकीला होगा.

खगोलविदों को अगस्त की शुरुआत में इसका अच्छा नजारा दिखने की उम्मीद है. नासा के अनुसार, अगली बार वर्ष 2020 में मंगल गृह पृथ्वी के सबसे नजदीक आएगा. तब दोनों की दूरी 6.2 करोड़ किलोमीटर होगी. पूर्ण चंद्र ग्रहण शुक्रवार को ऑस्ट्रेलिया, अफ्रीका, एशिया, यूरोप और दक्षिण अमेरिका महाद्वीपों में दिखाई देगा.

मंगल ग्रह पर एलियन की तलाश करेगी एक छोटी प्रयोगशाला

पूर्ण चंद्र ग्रहण के दौरान चंद्रमा जब पृथ्वी की छाया से होकर गुजरता है तो वह चमकीले नारंगी रंग से लाल रंग का हो जाता है और एक दुर्लभ घटना के तहत गहरे भूरे रंग से और अधिक गहरा हो जाता है. यही कारण है कि ऐसे पूर्ण चंद्र ग्रहण के समय दिखने वाले चांद को ब्लड मून कहा जाता है. यह पूर्ण चंद्र ग्रहण सबसे लंबा एक घंटे 43 मिनट का होगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: इसरो की मंगल और शुक्र पर उड़ान भरने की तैयारी

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)