NDTV Khabar

इमरान खान ने कहा- माई नेम इज खान, तो मरियम नवाज बोलीं- तुम एक कठपुतली हो

पाकिस्तानी तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के मुखिया इमरान खान और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज के बीच ट्विटर जंग छिड़ गई है.

3 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
इमरान खान ने कहा- माई नेम इज खान, तो मरियम नवाज बोलीं- तुम एक कठपुतली हो

इमरान खान (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. इमरान खान और मरियम नवाज के बीच ट्विटर जंग
  2. आरोप से बरी होने पर इमरान ने कहा था- माई नेम इज खान एंड....
  3. मरियम नवाज ने इमरान पर सेना के समर्थन का आरोप लगाया है.
नई दिल्ली: भारत में नेताओं के बीच ट्विटर वॉर तो देखने को मिलते ही हैं, कभी-कभी सरहद पार से भी इसकी खबर आती है. ताजा मामला पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के मुखिया इमरान खान और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज के बीच का है. दरअसल 2014 में इस्लामाबाद में पाकिस्तान आवामी तहरीक के नेता ताहिर उल कादरी के साथ धरने के दौरान हुई हिंसा में इमरान खान पर भी 4 मुकदमे दर्ज हुए थे. इन मुकद्दमों में एंटी टेररिज्म कोर्ट से जमानत मिलने के बाद इमरान खान ने शाहरुख खान की फिल्म का डायलॉग दोहराते हुए अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा कि 'माई नेम इज खान, बट आई एम नॉट अ टेररिस्ट. यानी मेरा नाम खान है और मैं आतंकवादी नहीं हूं.' इसके आगे खान ने यह भी लिखा कि कोर्ट ने उन्हें सादिक और अमीन करार दिया है, यानी सच्चा और ईमानदार. 

इमरान खान के ट्वीट के जवाब में मरियम नवाज ने ट्वीट किया और लिखा 'माई नेम इज खान एंड आई एम अ स्टूज यानी मेरा नाम खान है और मैं एक कठपुतली हूं.' मरियम का इशारा साफ था कि जिस तरह से इमरान खान पर पाकिस्तानी सेना के शह और संरक्षण हासिल होने के आरोप लगते हैं, वैसे में उन्हें मिली जमानत इस बात के सबूत हैं कि जांच एजेंसियों ने एंटी टेररिज्म कोर्ट में इमरान खान के खिलाफ ठीक से पैरवी नहीं की. बता दें कि सरकारी मीडिया पीटीवी पर हमला बोलने और धरने की जगह पर हिंसा फैलाने के आरोप से जुड़े सबूत पेश नहीं किए, फिर अदालत ने उन्हें जमानत दे दी.

यह भी पढ़ें - पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने महिला सांसद के खिलाफ इमरान खान की याचिका खारिज की

मरियम ने एक ही तीर से इमरान खान, अदालत और सेना पर निशाना साध दिया. यहां तक कि जब रिपोर्टर्स ने उनसे पूछा कि आपने इमरान खान को कठपुतली कहा तो उन्होंने कैमरे पर भी यह बात दोहराई की कठपुतली को कठपुतली नहीं कहेंगे तो क्या कहेंगे. रिपोर्टर्स ने जब यह पूछा कि इमरान खान कह रहे हैं कि उन्हें अदालत ने सच्चा और ईमानदार करार दिया है जबकि नवाज शरीफ अदालत में दोषी पाए गए हैं, तो मरियम ने जवाब दिया कि कोई इमरान खान की बेटी से जाकर पूछो कि वह कितने सच्चे और ईमानदार हैं.

ज्ञात हो कि इमरान खान ने अपनी जिस बेटी को बाद में अपनाया, उसकी मां से उनका औपचारिक तौर पर निकाह नहीं हुआ था. पाकिस्तान के संविधान की धारा धारा 63 (1)F के तहत कोई जनप्रतिनिधि अगर किसी मामले में दोषी पाया जाता है तो वह अपने पद पर बना नहीं रह सकता. पनामा पेपर्स में दोषी करार दिए जाने के बाद संविधान की इसी धारा की वजह से नवाज शरीफ को प्रधानमंत्री का पद छोड़ना पड़ा था. 

यह भी पढ़ें - इमरान खान ने कहा, पाकिस्तान बौद्ध देशों से तीर्थयात्रियों को आकर्षित कर सकता है

टिप्पणियां
इमरान खान ने जब खुद को कोर्ट से सच्चा और ईमानदार करार बताया तो मरियम ने उन्हें उनकी निजी जिंदगी पर ताना कसा. इमरान खान 2013 में पाकिस्तान के आम चुनावों में वह कामयाबी हासिल ना कर पाए, जिससे वह प्रधानमंत्री बन पाए. लिहाजा वह इस साल होने वाले चुनाव के लिए कमर कस रहे हैं. 2013 में भी उनके पीछे पाकिस्तानी सेना के खड़े होने की बात कही जा रही थी और इस बार वह बात और मजबूती से कही जा रही है. पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज सत्ता में वापस आने की पुरजोर कोशिश में है और ऐसे में इमरान और नवाज परिवार के बीच तीखी लड़ाई छिड़ी हुई है.

VIDEO : पाकिस्तान में सियासी भूचाल


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement