NDTV Khabar

आखिरकार अमेरिकी विदेश मंत्री को किम जोंग-उन का वह पत्र मिल ही गया, जिसका इंतजार डोनाल्ड ट्रंप को था

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ को वह पत्र प्राप्त हुआ है, जिसके बारे में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि उन्हें उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन से ऐसा पत्र मिलने की अपेक्षा थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आखिरकार अमेरिकी विदेश मंत्री को किम जोंग-उन का वह पत्र मिल ही गया, जिसका इंतजार डोनाल्ड ट्रंप को था

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. माइक पोम्पिओ को किम जोंग उन का पत्र मिला
  2. इस पत्र का इंतजार डोनाल्ड ट्रंप को भी था
  3. अमेरिकी विदेश विभाग के एक अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की है
वाशिंगटन: अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ को वह पत्र प्राप्त हुआ है, जिसके बारे में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि उन्हें उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन से ऐसा पत्र मिलने की अपेक्षा थी. विदेश विभाग के एक अधिकारी ने पुष्टि की कि पोम्पिओ के पास वह पत्र है. अभी तत्काल यह स्पष्ट नहीं है कि यह ट्रंप को दिया गया है कि नहीं. पोम्पिओ शुक्रवार को भारत से लौटे. 

यह भी पढ़ें: ट्रंप ने की लेख लिखने वाले ‘‘बुजदिल’’ के नाम का खुलासा करने की मांग 

ट्रंप शुक्रवार को मोंटेना और डकोटा में थे और देर से व्हाइट हाउस लौटे. ट्रंप ने कहा है कि किम का यह हालिया बयान ‘‘बहुत सकारात्मक’’ था कि वह ट्रंप के राष्ट्रपति कार्यकाल के दौरान उत्तर कोरिया को परमाणु हथियारों से मुक्त करना चाहते हैं.

यह भी पढ़ें: ‘परमाणु निरस्त्रीकरण के बावजूद उत्तर कोरिया अपने परमाणु ज्ञान को संजोकर रखेगा'

टिप्पणियां
बीते दिनों उत्तर कोरिया अमेरिका से किये गये परमाणु निरस्त्रीकरण के अपने वादे के बावजूद अपने परमाणु ज्ञान को संरक्षित रखेगा. ईरानी मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार विदेश मंत्री री योंग हो ने अपनी तेहरान यात्रा के दौरान यह बात कही थी.

VIDEO : सिंपल समाचार : ट्रंप ने छेड़ा तीसरा विश्वयुद्ध



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement