कोरोनावायरस के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराने को अमेरिका ने बनाई ये रणनीति

माइक पोम्पियो ने साक्षात्कार में कहा कि इस बात की जिम्मेदारी चीन की है कि वह स्पष्ट करे कि यह वायरस कहां से आया है. चीन को दिसंबर 2019 में इस वायरस के बारे में पता चला था.

कोरोनावायरस के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराने को अमेरिका ने बनाई ये रणनीति

फाइल फोटो

वाशिंगटन, कोरोनावायरस (Coronavirus) की उत्पत्ति का स्थान पता करने को लेकर अमेरिका सजग नजर आ रहा है. अमेरिका दुनिया के अन्य देशओं को यह समझाने की कोशिश कर रहा है कि कोरोना की उत्पत्ति चीन (China) के वुहान (Wuhan) से हुई है. अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो (Mike Pompeo) ने कहा कि अमेरिका अन्य देशों के साथ मिलकर काम कर रहा है कि ताकि यह समझाया जा सके कि कोरोनावायरस (Covid-19) की उत्पत्ति चीन के वुहान से हुई है. 

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, माइक पोम्पियो ने साक्षात्कार में कहा कि इस बात की जिम्मेदारी चीन की है कि वह स्पष्ट करे कि यह वायरस कहां से आया है. चीन को दिसंबर 2019 में इस वायरस के बारे में पता चला था. उन्होंने कहा, "हमें अमेरिका में हुई मौतें और इस वायरस से अर्थव्यवस्था पर पड़े असर के लिए पक्षों को जवाबदेह ठहराने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस से वैश्विक आर्थिक प्रणाली पर असर पड़ा है.

इससे पहले, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (US President Donald Trump) ने चीन के खिलाफ सख्त रुख अपनाते हुए संकेत दिया कि यदि कोरोना (Covid-19) संकट के लिए चीन (China) जिम्मेदार निकलता है तो उसे परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं.  ट्रंप ने पत्रकारों को बताया, " कोरोनावायरस को चीन में शुरू होने पहले रोका जा सकता था लेकिन ऐसा नहीं हुआ और आज पूरी दुनिया इस संकट से गुजर रही है."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ट्रंप से जब पूछा गया कि चीन को कोरोना महामारी के लिए अंजाम भुगतना पड़ सकता है इस पर उन्होंने कहा, "यदि वे इसके लिए जानबूझकर जिम्मेदार हैं तो हां उन्हें इसके परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं, लेकिन अगर यह सिर्फ एक गलती थी, तो गलती तो आखिर गलती ही होती है." दिसंबर में चीन के वुहान शहर से कोरोना महामारी शुरू हुई थी

वीडियो: अमेरिकी राष्ट्रपति ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत को दिया धन्यवाद