NDTV Khabar

सिंगापुर की कंपनियों ने अवैध रूप से उत्तर कोरिया को आपूर्ति की : संयुक्त राष्ट्र

युक्त राष्ट्र की एक मसौदा रिपोर्ट में कहा गया है कि सिंगापुर की दो कंपनियों ने उत्तर कोरिया को लग्जरी सामान की आपूर्ति कर प्रतिबंधों का उल्लंघन किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सिंगापुर की कंपनियों ने अवैध रूप से उत्तर कोरिया को आपूर्ति की : संयुक्त राष्ट्र

संयुक्त राष्ट्र की एक मसौदा रिपोर्ट में कहा गया है कि सिंगापुर की दो कंपनियों ने उत्तर कोरिया को लग्जरी सामान की आपूर्ति कर प्रतिबंधों का उल्लंघन किया है.

नई दिल्ली:

संयुक्त राष्ट्र की एक मसौदा रिपोर्ट में कहा गया है कि सिंगापुर की दो कंपनियों ने उत्तर कोरिया को लग्जरी सामान की आपूर्ति कर प्रतिबंधों का उल्लंघन किया है. बीबीसी के मुताबिक, इस मामले में अंतिम रिपोर्ट संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को सौंप दी गई है और इस सप्ताह के अंत तक इसके प्रकाशित होने की संभावना है. लीक हुए रिपोर्टों में आरोप लगाया गया है कि दोनों कंपनियों ओसीएन और टी स्पेशलिस्ट ने उत्तर कोरिया को शराब एवं स्पिरिट सहित लग्जरी सामानों की आपूर्ति की है.

ट्रंप और किम की मुलाकात तभी होगी, जब उत्तर कोरिया वादे पूरे करेगा : व्हाइट हाउस

संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंध के तहत 2006 से उत्तर कोरिया को किसी भी तरह के लग्जरी सामान बेचना अवैध है और सिंगापुर के नियमों के तहत भी कई वर्षो से उत्तर कोरिया को इन सामानों को बेचना प्रतिबंधित है. दोनों सहयोगी कंपनियां हैं और इन्होंने किसी भी तरह की अवैध गतिविधियों से इनकार किया है.


टिप्पणियां

मेक्सिको : 24 घंटों में हुई हिंसा में 16 लोगों की मौत

बीबीसी के मुताबिक, संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट में इस बात का भी दावा किया है कि 2011 से 2014 के बीच उत्तर कोरिया में 20 लाख डॉलर से अधिक सामान की बिक्री हुई. कंपनियों के वकील एडमंड पेरेइरा ने इस बात की पुष्टि की है कि सिंगापुर के अधिकारी इस मामले की जांच कर रहे है, लेकिन उन लोगों ने जोर देते हुए काह कि वर्तमान में उत्तर कोरिया से उनका कोई वित्तीय संबंध नहीं है. 



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement