NDTV Khabar

फर्जी बैंक खातों के मामले में पाकिस्तान के पूर्व राष्‍ट्रपति आसिफ अली जरदारी हुए गिरफ्तार

पाकिस्‍तान (Pakistan) में राष्‍ट्रीय जवादेही ब्‍यूरो (NBA) ने देश के पूर्व राष्‍ट्रपति आसिफ अली जरदारी (Asif Ali Zardari) को फर्जी बैंक खातों के मामले गिरफ्तार किया है. पाकिस्‍तानी मीडिया के हवाले से यह खबर है. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
फर्जी बैंक खातों के मामले में पाकिस्तान के पूर्व राष्‍ट्रपति आसिफ अली जरदारी हुए गिरफ्तार

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी हुए गिरफ्तार. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. पाक के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी हुए गिरफ्तार
  2. पाकिस्तान की राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो ने किया गिरफ्तार
  3. फर्जी बैंक खातों के मामले में हुई गिरफ्तारी
इस्लामाबाद:

पाकिस्‍तान (Pakistan) में राष्‍ट्रीय जवादेही ब्‍यूरो (NBA) ने देश के पूर्व राष्‍ट्रपति आसिफ अली जरदारी (Asif Ali Zardari) को फर्जी बैंक खातों के मामले गिरफ्तार किया है. आसिल अली जरदारी Asif Ali Zardari News) की जमानत याचिका खारिज होने के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया है. बता दें कि पूरा मामला साढ़ें चार बिलियन पाकिस्तानी रुपये का यह मामला है. मंगलवार को जरदारी (Asif Ali Zardari) को अदालत के सामने पेश किया जाएगा. जरदारी अभी अंतरिम जमानत पर थे.


मालूम हो कि बीते मई महीने में पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी को भ्रष्टाचार के छह मामलों में इस्लामाबाद हाईकोर्ट से अंतरिम जमानत मिली थी. पाकिस्तान की भ्रष्टाचार निगरानी संस्था इन मामलों की जांच  कर रही है. पाकिस्तान के राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (NAB) की ओर से मंगलवार को अदालत में पेश 11 पन्नों की रिपोर्ट के अनुसार 36 जांच मामलों में पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) के 63 वर्षीय सह-अध्यक्ष का नाम है और एनएबी का दावा है कि कम से कम आठ मामलों में जरदारी की भूमिका साबित हुई है.

अदालत ने पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला रद्द किया

न्यायमूर्ति उमर फारुक की अगुवाई वाली दो न्यायाधीशों की पीठ ने छह मामलों में गिरफ्तारी से पहले जमानत की मांग वाली याचिका पर सुनवाई के दौरान उनकी बेटी फरयाल तलपुर को अंतरिम जमानत दे दी थी. अदालत ने जरदारी को धनशोधन मामले में 30 मई तक की अंतरिम जमानत दे दी थी. उन्हें ओपल 225 संपत्ति से संबंधित जांच के मामले में भी 12 जून तक अंतरिम जमानत दी गई थी.

टिप्पणियां

यह संपत्ति जरदारी परिवार की है और 5,00,000 रुपये का मुचलका भरने का निर्देश दिया था. उन्हें पार्क लेन जांच मामले में भी 12 जून तक की अंतरिम जमानत दे दी गई थी. अदालत ने उन्हें तोशा खाना वाहन जांच मामले में भी 20 जून तक और संदिग्ध लेन-देन से संबंधित मामले में 21 मई तक की अंतरित जमानत दी थी.  

बता दें कि हाल ही में पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने देश के प्रधानमंत्री इमरान खान को हटाने का संकल्प जाहिर करते हुए सरकार पर देश में महंगाई और बेरोजगारी बढ़ाने का आरोप लगाया था. 'डॉन' समाचार पत्र ने जरदारी के हवाले से कहा था, 'यदि प्रधानमंत्री को जल्द हटाया नहीं जाता है तो वह देश को ऐसी स्थिति में ले जाएंगे जहां से हमारे लिए भी देश को चलाना मुमकिन नहीं होगा.' जरदारी ने सिंध के दौलतपुर प्रांत में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा था, 'मैं सत्ता का भूखा नहीं हूं, लेकिन मौजूदा सरकार को वापस भेज देना चाहिए अन्यथा, अधिकतर लोगों का जीवन दुखदायी हो जाएगा.' उन्होंने कहा कि उनकी पाकिस्तान पीपल्स पार्टी ने हमेशा लोगों की सेवा की है, क्योंकि यही 'हमारा घोषणा पत्र है और हम लोगों के दरवाजे पर जाकर उनकी सेवा करने में यकीन रखते हैं.' उन्होंने कहा था, 'ईद के तुरंत बाद हम अपनी योजनाओं की घोषणा करेंगे और यह समाप्ति की शुरुआत का संकेत होगा.' जरदारी ने कहा था कि मौजूदा सरकार ने लोगों की नौकरियां छीन लीं हैं और महंगाई आसमान छूने लगी है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement