NDTV Khabar

क्षुद्रग्रह की मदद से वैश्विक निगरानी नेटवर्क को परखेगी नासा

नासा की वेबसाइट पर जारी एक प्रेस बयान के अनुसार, इस पूरे प्रयास का लक्ष्य क्षुद्रग्रह 2012 टीसी4 है. यह एक छोटा क्षुद्रग्रह है, जो 10 और 30 मीटर के आकार के बीच का है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
क्षुद्रग्रह की मदद से वैश्विक निगरानी नेटवर्क को परखेगी नासा

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

न्यूयॉर्क:

नासा अपने वेधशालाओं के नेटवर्क को परखने के लिए एक क्षुद्रग्रह की मदद लेगा. इस क्षुद्रग्रह के इस साल अक्टूबर में पृथ्वी के करीब से गुजरने की उम्मीद है. यह पृथ्वी के पास से गुजरने वाला क्षुद्रग्रह उन वैज्ञानिकों के लिए लाभकारी होगा, जो ग्रहों की रक्षा के लिए कार्य करते हैं.

सप्ताह के प्रारंभ में नासा की वेबसाइट पर जारी एक प्रेस बयान के अनुसार, इस पूरे प्रयास का लक्ष्य क्षुद्रग्रह 2012 टीसी4 है. यह एक छोटा क्षुद्रग्रह है, जो 10 और 30 मीटर के आकार के बीच का है.

क्षुद्रग्रह टीसी4 सुरक्षित तौर पर 12 अक्टूबर को पृथ्वी के करीब से गुजरेगा और वैज्ञानिक इस बात से सुनिश्चित है कि यह पृथ्वी की सतह से 6,800 किमी से अधिक निकट नहीं आएगा. यह क्षुद्रग्रह 2012 से दूरदर्शी के रेंज से बाहर हो गया है.

भारतीय मूल के वैज्ञानिक विष्णु रेड्डी ने कहा है कि यह नेटवर्क के अंतरराष्ट्रीय पहलू के उपयोग के लिए सहकारी निगरानी अभियान का एक मौका है.


टिप्पणियां

एरिजोना विश्वविद्यालय के प्रोफेसर रेड्डी ने कहा, "यह एक सामूहिक प्रयास है, जिसमें एक दर्जन से ज्यादा वेधशालाएं, विश्वविद्यालय और दुनिया भर की प्रयोगशालाएं शामिल हैं, जिसमें हम सामूहिक रूप से अपनी पृथ्वी के पास वस्तु पर निगरानी की क्षमताओं व सीमाओं को जानेंगे."

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement