नेपाल-विरोधी कार्यक्रम के प्रसारण का आरोप लगाते हुए नेपाल ने भारत से कदम उठाने का अनुरोध किया

नेपाल ने भारत को एक ''राजनयिक टिप्पणी'' भेजी है और अपने देश तथा नेताओं के खिलाफ ऐसे कार्यक्रमों के प्रसारण पर कदम उठाने का अनुरोध किया है जो उसके मुताबिक ''फर्जी, आधारहीन और असंवेदनहीन होने के साथ ही अपमानजनक'' हैं.

नेपाल-विरोधी कार्यक्रम के प्रसारण का आरोप लगाते हुए नेपाल ने भारत से कदम उठाने का अनुरोध किया

प्रतीकात्मक तस्वीर

काठमांडू:

नेपाल ने भारत को एक ''राजनयिक टिप्पणी'' भेजी है और अपने देश तथा नेताओं के खिलाफ ऐसे कार्यक्रमों के प्रसारण पर कदम उठाने का अनुरोध किया है जो उसके मुताबिक ''फर्जी, आधारहीन और असंवेदनहीन होने के साथ ही अपमानजनक'' हैं. नेपाल ने भारतीय मीडिया के एक वर्ग पर इस तरह के कार्यक्रमों के प्रसारण का आरोप लगाया है. 


एक सूत्र ने रविवार को यह जानकारी दी. नेपाल ने बृहस्पतिवार को दूरदर्शन के अलावा सभी भारतीय निजी चैनलों के प्रसारण पर रोक लगा दी थी. उसने आरोप लगाया था कि ये चैनल देश की भावनाओं को चोट पहुंचाने वाली खबरें प्रसारित कर रहे हैं. इस कदम के कुछ ही दिन बाद नेपाल ने भारत से यह अनुरोध किया है. इस मामले में भारत ने तत्काल कोई प्रतिक्रिया नही दी थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


नेपाली प्रधानमंत्री के एक सहायक के मुताबिक, नई दिल्ली स्थित नेपाल दूतावास के जरिए विदेश मंत्रालय को शुक्रवार को दी गई राजनयिक टिप्पणी में कहा गया है कि भारतीय मीडिया के एक वर्ग द्वारा प्रसारित की जा रही सामग्री '' नेपाल और नेपाली नेतृत्व के प्रति फर्जी, आधारहीन और असंवेदनहीन होने के साथ ही अपमानजनक भी है.'' इसमें भारतीय अधिकारियों से अनुरोध किया गया है कि इस तरह की सामग्री के प्रसारण पर रोक के लिए कदम उठाये जाएं.