Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

उ. कोरिया के लिए जासूसी के आरोप में फ्रांस का अधिकारी गिरफ्तार

फ्रांस की संसद के ऊपरी सदन सीनेट के वरिष्ठ अधिकारी क्वेनेडी को रविवार को हिरासत में लिया गया. वह फ्रैंको-कोरियन फ्रेंडशिप एसोसिएशन के भी अध्यक्ष हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उ. कोरिया के लिए जासूसी के आरोप में फ्रांस का अधिकारी गिरफ्तार

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली:

फ्रांस के एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी बेनॉ क्वेनेडी को उत्तर कोरिया (North Korea) के लिए जासूसी करने के आरोप में हिरासत में लिया गया है. न्यायिक सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी. बता दें कि फ्रांस की संसद के ऊपरी सदन सीनेट के वरिष्ठ अधिकारी क्वेनेडी को रविवार को हिरासत में लिया गया. वह फ्रैंको-कोरियन फ्रेंडशिप एसोसिएशन के भी अध्यक्ष हैं. न्यायिक सूत्रों का कहना है कि उनके देश से बाहर जाने या सीनेट में काम करने पर रोक लगा दी गई है. क्वेनेडी को फिलहाल फ्रांस की घरेलू खुफिया एजेंसी डीजीएसआई के मुख्यालय में रखा गया है.

यह भी पढ़ें: आईएस अफसर को धमकाकर जबरन वसूली के आरोप में निजी जासूस औऱ उसकी पत्नी गिरफ्तार

क्वेनेडी के प्रकाशक की वेबसाइट डेल्गा के अनुसार उन्होंने कोरियाई प्रायद्वीप की काफी यात्रा की है. यूट्यूब पर अपलोड एक वीडियो में वह कोरिया को ‘विकास का मॉडल' भी बताते हैं. वह 2007 से फ्रैंको-कोरियन फ्रेंडशिप एसोसिएशन के अध्यक्ष हैं. इसका गठन 1960 में उन पत्रकारों ने किया था जो सामाजिक और वामपंथी ध्येय के प्रति सहानुभूति रखते थे. यह संगठन प्योंगयांग के साथ करीबी संबंध और विभाजित कोरिया के एकीकरण की बात करता है.


यह भी पढ़ें: सपा के राज्यसभा सांसद के पीए को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया

टिप्पणियां

बता दें कि जासूस की गिरफ्तारी का यह कोई पहला मामला नहीं है. इससे पहले अमेरिका ने एक रूसी महिला को गिरफ्तार किया था. वॉशिंगटन में संघीय अभियोजकों के मुताबिक महिला अमेरिका में रह रही थी और रूस के एक वरिष्ठ अधिकारी की तरफ से गुप्त एजेंट की तरह काम कर रही थी. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की मुलाकात के कुछ ही घंटों बाद मारिया बुटिना की गिरफ्तारी की घोषणा की गई थी. कुछ दिन पहले विशेष अधिवक्ता रॉबर्ट मूलर ने रूस के 12 खुफिया अधिकारियों पर आरोप लगाया था कि उनके ही इशारों पर 2016 के चुनाव में गड़बड़ी के लिए हैकिंग के प्रयास किए गए थे.

VIDEO: DRDO का कर्मचारी निकला पाक का जासूस.

अदालत के दस्तावेजों के मुताबिक बुटिना ने अमेरिकी राजनीतिज्ञों और उम्मीदवारों से मुलाकात की , विशेष रूचि समूहों द्वारा प्रयोजित कार्यक्रमों में भाग लिया. उसका इरादा, यहां से प्राप्त जानकारियों के बारे में मास्को तक सूचना  पहुंचाना था. अदालत के दस्तावेजों में रूसी अधिकारी का नाम नहीं दिया है. (इनपुट भाषा से) 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... धर्म साबित करने के लिए 'रुद्राक्ष' दिखाया, जान बचाने के लिए गिड़गिड़ाया - अब ऐसी हो गई है दिल्ली

Advertisement