NDTV Khabar

उत्तर कोरिया ने हाइड्रोजन बम बनाया, सरकारी मीडिया ने किया दावा

अत्यधिक विस्फोटक शक्ति वाला स्वदेशी तकनीक से बना थर्मोन्यूक्लियर हथियार है यह हाइड्रोजन बम

1832 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
उत्तर कोरिया ने हाइड्रोजन बम बनाया, सरकारी मीडिया ने किया दावा

उत्तर कोरिया के हाइड्रोजन बम बनाने का दावा वहां के सरकारी मीडिया ने किया है.

खास बातें

  1. किम जोंग उन ने न्यूक्लियर वेपंस इंस्टीट्यूट में हथियार का निरीक्षण किया
  2. जनवरी 2016 में भी उत्तर कोरिया ने हाइड्रोजन बम बनाने का दावा किया था
  3. जुलाई में आईसीबीएम ‘हासोंग-14’ के दो सफल परीक्षण किए थे
सोल: उत्तर कोरिया ने एक हाइड्रोजन बम बनाया है जिसे देश की नई अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल से दागा जा सकता है. आधिकारिक कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी (केसीएनए) ने यह दावा किया है.

इस बात को लेकर सवाल बना हुआ था कि क्या परमाणु संपन्न उत्तर कोरिया हाइड्रोजन बम बनाने पर काम कर रहा है, लेकिन आधिकारिक कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी ने आज कहा कि उसके नेता किम जोंग उन ने न्यूक्लियर वेपंस इंस्टीट्यूट में ऐसे उपकरण का निरीक्षण किया है.

यह भी पढ़ें : हाइड्रोजन बम के परीक्षण के बाद अब मिसाइल प्रक्षेपण की तैयारी कर रहा उत्‍तर कोरिया

केसीएनए ने किम के हवाले से कहा, ‘‘यह अत्यधिक विस्फोटक शक्ति के साथ हमारे प्रयासों और तकनीक से बना थर्मोन्यूक्लियर हथियार है. हाइड्रोजन बम के सभी तत्व 100 फीसदी स्वदेश निर्मित हैं.’’ तस्वीरों में काला सूट पहने किम धातु की एक चीज को देखते हुए दिख रहे हैं.

यह भी पढ़ें : उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन ने ‘हाइड्रोजन बम’ परीक्षण को ठहराया सही

उत्तर कोरिया ने जुलाई में आईसीबीएम ‘‘हासोंग...14’’ के दो सफल परीक्षण किए थे जो अमेरिका के मुख्य भूभाग तक मार करने में सक्षम हैं. उत्तर कोरिया के इस कदम के बाद क्षेत्र में तनाव पैदा हो गया था.

यह भी पढ़ें : उत्तर कोरिया के हाइड्रोजन बम परीक्षण से जापान में रेडिएशन नहीं

जनवरी 2016 में चौथे परमाणु परीक्षण के बाद उसने दावा किया था कि यह उपकरण छोटा हाइड्रोजन बम है जिसमें अन्य परमाणु हथियारों के मुकाबले अधिक शक्तिशाली होने की क्षमता है. लेकिन वैज्ञानिकों ने कहा कि हासिल की गई छह किलोटन ऊर्जा थर्मोन्यूक्लियर हथियार के लिए आवश्यक ऊर्जा से बहुत कम है.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement