NDTV Khabar

जापान के ऊपर से मिसाइल दागकर उत्तर कोरिया के तानाशाह नेता किम जोंग बोले- ये तो ट्रेलर था

कुछ ही दिन पहले ट्रंप ने खुद को मुबारकबाद देते हुए कहा था कि उत्तर कोरिया के किम जोंग-उन मिसाइलें दागना बंद करके शायद उनका सम्मान करने लगे हैं.

3.1K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
जापान के ऊपर से मिसाइल दागकर उत्तर कोरिया के तानाशाह नेता किम जोंग बोले- ये तो ट्रेलर था

उत्तर कोरिया ने किया मिसाइल प्रक्षेपण

खास बातें

  1. पहली बार उत्तर कोरिया ने मिसाइल प्रक्षेपण की बात मानी
  2. ऐसे परीक्षण दोबारा करने की धमकी दी
  3. ट्रंप ने कहा- सभी विकल्प खुले हुए हैं
सोल:

परमाणु हथियारों से संपन्न उत्तर कोरिया ने कहा कि उसने एक दिन पहले जापान के ऊपर एक मिसाइल दागी थी. यह पहली बार है, जब उत्तर कोरिया ने अपने ऐसे किसी कदम को स्वीकार किया है. उत्तर कोरिया ने इस घटना को 'कर्टन रेजर' बताया है. उन्होंने इस तरह के और मिसाइल प्रक्षेपण करने की धमकी भी दी. उत्तर कोरिया के हथियारों के कार्यक्रमों को लेकर उपजे तनाव के बीच उसका हालिया प्रक्षेपण प्योंगयांग द्वारा उकसावे की एक बड़ी कार्यवाही माना जा रहा है. प्योंगयांग के हथियार कार्यक्रम के विरोध से जुड़े घटनाक्रम में वह अमेरिकी क्षेत्र गुआम को निशाना बनाकर मिसाइलें दागने की धमकी दे चुका है. इस पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कड़ी कार्रवाई करने की चेतावनी दी थी.

पढ़ें: मिसाइल परीक्षण करने पर उत्तर कोरिया को डोनाल्ड ट्रंप ने दी यह चेतावनी


उत्तर कोरिया की ओर से बयान आने के कुछ ही समय पहले ट्रंप ने कहा कि सभी विकल्प खुले हुए हैं. कुछ ही दिन पहले ट्रंप ने खुद को मुबारकबाद देते हुए कहा था कि उत्तर कोरिया के किम जोंग-उन मिसाइलें दागना बंद करके शायद उनका सम्मान करने लगे हैं.

पढ़ें: तानाशाह किम जोंग तीसरी बार बना पिता, बेटा है या बेटी सस्पेंस बरकरार

आधिकारिक समाचार एजेंसी केसीएनए ने कहा कि मध्यम दूरी की मिसाइल ह्वासोंग-12 का प्रक्षेपण नेता किम जोंग-उन ने किया. इस बयान में कहा गया, मिसाइल जापान के होक्काइदो के ओशिमा प्रायद्वीप और केप एरिमो के ऊपर से हो कर गुजरी. यह पूर्वनिर्धारित मार्ग से गुजरी और उत्तरी प्रशांत में निर्धारित जलक्षेत्र में मौजूद लक्ष्य को निशाना बनाने में सफल रही. दक्षिण कोरिया की सेना ने कहा था कि इस मिसाइल ने लगभग 2700 किलोमीटर की यात्रा तय की और यह अधिकतम 550 किलोमीटर की ऊंचाई तक गई. उत्तर कोरिया वर्ष 1998 और 2009 में दो बार जापान के मुख्य भूभाग के ऊपर से रॉकेट भेज चुका है. दोनों ही बार उसने दावा किया था कि ये अंतरिक्ष प्रक्षेपण यान थे.

टिप्पणियां

केसीएनए ने कहा, इस अभ्यास का पड़ोसी देशों की सुरक्षा पर कोई असर नहीं हुआ. एजेंसी ने कहा कि किम ने प्रक्षेपण पर संतुष्टि जाहिर की है. एजेंसी ने किम के हवाले से कहा, भविष्य में प्रशांत को निशाना बनाकर और अधिक बैलिस्टिक रॉकेट प्रक्षेपण के अभ्यास होंगे.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement