NDTV Khabar

उत्तर कोरिया ने कहा- नहीं हटा प्रतिबंध तो फिर शुरू करेंगे परमाणु कार्यक्रम

मंत्रालय का कहना है कि यदि अमेरिका ने अपना रूख नहीं बदला तो उत्तर कोरिया परमाणु कार्यक्रम और आर्थिक विकास को मजबूत करने के लिए अपनी ‘प्योंगजिन’ नीति को फिर से प्रभावी बना सकता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उत्तर कोरिया ने कहा- नहीं हटा प्रतिबंध तो फिर शुरू करेंगे परमाणु कार्यक्रम

उत्तर कोरिया ने अमेरिका को दी हिदायत

सियोल: उत्तर कोरिया ने चेतावनी दी है कि यदि अमेरिका उसके खिलाफ लगे आर्थिक प्रतिबंधों को नहीं हटाता है तो वह परमाणु हथियारों को मजबूत करने संबंधी अपनी नीति को फिर से प्रभावी बना सकता है. प्रतिबंधों के प्रयोग और उत्तर कोरिया पर परमाणु कार्यक्रम बंद करने के दबाव के कारण वाशिंगटन और सियोल के बीच तल्खी की पृष्ठभूमि में विदेश मंत्रालय की ओर से शुक्रवार की शाम यह बयान जारी किया गया है. मंत्रालय का कहना है कि यदि अमेरिका ने अपना रूख नहीं बदला तो उत्तर कोरिया परमाणु कार्यक्रम और आर्थिक विकास को मजबूत करने के लिए अपनी ‘प्योंगजिन' नीति को फिर से प्रभावी बना सकता है. उत्तर कोरिया ने अपने परमाणु कार्यक्रमों के संबंध में अमेरिका के साथ चल रही बातचीत को खत्म करने की लगभग धमकी दे डाली है.

यह भी पढ़ें: दोबारा मिल सकते हैं ट्रंप और किम, व्हाइट हाउस ने कही ये बड़ी बात

मंत्रालय के इंस्टीट्यूट ऑफ अमेरिकन स्टडिज के निदेशक के नाम से जारी इस बयान में कहा गया है कि अमेरिका को लगता है कि बार-बार प्रतिबंध लगाने और दबाव बढ़ाने से परमाणु निरस्त्रीकरण होगा. हम ऐसे बेवकूफाना विचार पर हंसने से खुद को नहीं रोक पाए. उसका कहना है कि संबंधों में सुधार और प्रतिबंध दोनों साथ-साथ नहीं चल सकते हैं. गौरतलब है कि कुछ महीने पहले ही उत्तर कोरिया के शासक किम ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से पूर्ण निरस्त्रीकरण के लिए हामी भरी थी. दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंध कायम होंगे.

यह भी पढ़ें: ट्रंप को किम जोंग उन का दूसरी बैठक की मांग करने वाला पत्र मिला : व्हाइट हाउस

टिप्पणियां
अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप और उत्‍तर कोरिया के शासक किम जोंग उन के बीच 50 मिनट तक बातचीत हुई थी. इस बैठक में  उम्मीद से बेहतर नतीजे आए और दोनों देशों ने व्यापक दस्तावेज़ पर दस्तखत किए. सिंगापुर में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप और उत्तर कोरियाई राष्ट्रपति किम जोंग उन की ऐतिहासिक मुलाक़ात के बाद दोनों देशों के बीच कई समझौतों पर हस्ताक्षर हुए थे. किम जोंग उन ने इस मुलाक़ात को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि हम अतीत को भूल कर आगे बढ़ेंगे. ख़ुशी है हम बाधाओं को पार कर मिले. अब दुनिया एक बड़ा बदलाव देखेगी.

VIDEO: ट्रंप-किम की ऐतिहासिक मुलाकात.

वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने इस मुलाक़ात को उम्मीद से ज़्यादा बेहतर बताया. उन्‍होंने कहा कि हम मिलकर एक बड़ी समस्या का समाधान करेंगे. हमारे बीच परमाणु निरस्त्रीकरण पर बातचीत हुई. ट्रंप ने उम्मीद जताया कि अमेरिका और उत्तर कोरिया के रिश्ते बेहतर होंगे. ट्रंप ने कहा कि आज मुझे पता चला कि किम बहुत टैलेंटेड इंसान हैं. इससे पहले दोनों नेताओं के बीच सिंगापुर के सैंटोसा आइलैंड के कैपेला रिसॉर्ट में क़रीब 50 मिनट की मुलाक़ात हुई. (इनपुट  भाषा से)  


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement