NDTV Khabar

उत्तर कोरिया ने की 'विश्व विनाशक' हथियार की टेस्टिंग, डोनाल्ड ट्रंप बोले- 'देखते हैं'

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से जब पूछा गया कि वह उत्तर कोरिया पर हमला करेंगे तो उन्होंने कहा, 'देखते हैं.'

1.5K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
उत्तर कोरिया ने की 'विश्व विनाशक' हथियार की टेस्टिंग, डोनाल्ड ट्रंप बोले- 'देखते हैं'

उत्तर कोरिया का तानाशाह किम जोंग उन सैन्य ताकत बढ़ाने पर तुला हुआ है.

खास बातें

  1. उत्तर कोरिया ने एक हाइड्रोजन बम का परीक्षण किया है
  2. दुनिया के कई प्रमुख देशों ने चिंता जाहिर की है
  3. उत्तर कोरिया पर आर्थिक प्रतिबंध लगाने की तैयारी में अमेरिका
वॉशिंगटन: उत्तर कोरिया ने अपने अब तक के सबसे शक्तिशाली परमाणु परीक्षण के पूरी तरह सफल रहने का दावा किया. यह एक ऐसा हथियार है जो अमेरिका में कहीं भी हमला कर सकता है. इस बारे में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से जब पूछा गया कि वह उत्तर कोरिया पर हमला करेंगे तो उन्होंने कहा, 'देखते हैं.' उन्होंने उम्मीद जताई कि बीजिंग अपने पड़ोसी देश उत्तर कोरिया पर दबाव बनाएगा. ट्रंप ने ट्वीट किया कि अमेरिका 'उत्तर कोरिया के साथ व्यवसाय करने वाले किसी भी देश से व्यापार बंद करने पर विचार कर रहा है.'

ये भी पढ़ें : उत्तर कोरिया ने कहा- अभी और मिसाइल दागे जाएंगे

हाइड्रोजन बम का परीक्षण सफल: उत्तर कोरिया ने कहा कि उसने लंबी दूरी की मिसाइल के लिए डिजाइन किए गए एक हाइड्रोजन बम का परीक्षण किया है और उसने अपने इस छठे और सबसे शक्तिशाली परमाणु परीक्षण को पूरी तरह से सफल बताया. हालांकि, उसके इस कदम पर दुनिया के कई प्रमुख देशों ने चिंता जाहिर की है और अमेरिका ने सख्त आर्थिक प्रतिबंधों की सूची तैयार करने की बात कही है.

ये भी पढ़ें : अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया के साथ बातचीत से इनकार किया

इस हाइड्रोजन बम को अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) पर लगाया जा सकता है. पिछले हफ्ते ही उसका एक मिसाइल जापान के ऊपर से गुजरा था.

उत्तर कोरिया ने हाइड्रोजन बम के परीक्षण को पूरी तरह से सफल बताया जबकि इसके पड़ोसियों ने फौरन ही उसके इस कदम की निंदा की.

ये भी पढ़ें : उत्तर कोरिया की हरकतों और धमकियों से बढ़ रहा है युद्ध का खतरा, अमेरिका ने कहा- सभी विकल्प खुले

हालांकि, विस्फोट की क्षमता का अभी पता नहीं चल पाया है लेकिन दक्षिण कोरिया की मौसम एजेंसी ने कहा कि इसकी वजह से आया कृत्रिम भूकंप पिछले बार महसूस किए गए झटकों से पांच - छह गुना ज्यादा था.

यह परीक्षण स्थानीय समय के मुताबिक स्थानीय समयानुसार रात 12 बज कर 29 मिनट पर पुंगयी..री में किया गया जहां उत्तर कोरिया ने पहले भी परमाणु परीक्षण किए हैं. सोल के अधिकारियों ने इसकी तीव्रता 5. 7 बताई है जबकि अमेरिकी भूगर्भ सर्वेक्षण ने इसे 6. 3 बताया है. उत्तर कोरिया के सरकारी टीवी ने इस परीक्षण की घोषणा के लिए रविवार की अपराह्न एक विशेष बुलेटिन का प्रसारण किया.

ये भी पढ़ें : उत्तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया के चार पत्रकारों को मौत की सजा सुनाई

देश के नेता किम जोंग उन सत्तारूढ पार्टी की एक बैठक में शरीक हुए. उत्तर कोरिया ने कहा कि इसका मिसाइल विकास एक ऐसा व्यवहारिक परमाणु प्रतिरोध बनाने की रक्षात्मक कोशिश है जो अमेरिकी शहरों को निशाना बना सके. इस बीच, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीटर पर कहा कि उत्तर कोरिया की कथनी और करनी अमेरिका के लिए बहुत शत्रुतापूर्ण होते जा रहे हैं. उन्होंने कहा ‘‘उत्तर कोरिया ने एक बड़ा परमाणु परीक्षण किया. उनके बयानों और कार्रवाई का जारी रहना अमेरिका के लिए बहुत घातक और खतरनाक है.

ये भी पढ़ें : उत्तर कोरिया ने हाइड्रोजन बम बनाया, सरकारी मीडिया ने किया दावा

ट्रंप ने की जापानी पीएम से बातचीत: व्हाइट हाउस ने एक बयान में कहा, 'राष्ट्रपति डोनाल्ड जे ट्रंप ने उत्तर कोरिया पर दबाव बढ़ाने के प्रयासों पर जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे से चर्चा की. अमेरिकी वित्त मंत्री स्टीवन मुचिन ने कहा कि अमेरिकी वित्त विभाग सख्त आर्थिक प्रतिबंधों की एक सूची तैयार करेगी. उत्तर कोरिया द्वारा आज परमाणु परीक्षण करने के बाद चीन ने परमाणु हथियार कार्यक्रम की अंतरराष्ट्रीय निंदा की अनदेखी करने के लिए उसकी आलोचना की.

चीन ने कहा कि उसने उत्तर कोरिया के पास विकिरण की आपात निगरानी शुरू कर दी है. चीनी विदेश मंत्रालय ने चीन की सरकार इसे लेकर कड़ा विरोध जताती है एवं इसकी कड़ी निंदा करती है.’’ सोल में दक्षिण कोरियाई के राष्ट्रपित मून जाए..इन ने उत्तर कोरिया को पूरी तरह अलग थलग करने के संयुक्त राष्ट्र के नये प्रतिबंधों की मांग की . उन्होंने कहा कि उनका देश अमेरिकी सेना के सबसे मजबूत सामरिक हथियारों की तैनाती के बारे में चर्चा करेगा .

ये भी पढ़ें : डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, उत्तर कोरिया बड़ा खतरा, चीन के लिए शर्मिंदगी का सबब बन गया है

जापान के प्रधानमंत्री आबे ने उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण को पूरी तरह से अस्वीकार्य बताते हुए इसकी निंदा की. उन्होंने कहा कि यह परमाणु एवं मिसाइल कार्यक्रम उनके देश के लिए और अधिक गंभीर खतरा पैदा करता है. आबे ने कहा, ‘यदि उत्तर कोरिया परमाणु परीक्षण करता है, यह कतई स्वीकार्य नहीं होगा. हम इसका कड़ा विरोध करेंगे.’’ जापान के विदेश मंत्री तारो कोनो ने कहा कि जापान उत्तर कोरिया द्वारा परमाणु परीक्षण किये जाने की पुष्टि करता है.

VIDEO: उत्तर कोरिया के सेना प्रमुख को गोलियों से भुना


फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने उत्तर कोरिया की हाइड्रोजन बम के सफल परीक्षण की घोषणा पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय द्वारा ‘बहुत ठोस’ प्रतिक्रिया का आह्वान किया.

मैक्रों ने एक बयान में कहा, ‘उत्तर कोरिया बिना शर्त बातचीत की राह पर लौटे.’ उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को उत्तर कोरिया के इस ताजा उकसावे से निपटने के प्रति सख्त होना चाहिए.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
1.5K Shares
(यह भी पढ़ें)... हां, मुझे मालूम है गुजरात चुनाव का नतीजा

Advertisement