नोट्रे डेम चर्च मामला - अरबपति उद्योगपतियों के बड़े वादे पड़े झूठे, मोटे चंदे के नाम पर यूं दिया झांसा

इन उद्योगपतियों की बजाय मुख्य रूप से अमेरिकी नागरिकों ने फ्रेंड्स ऑफ नोट्रे डेम फाउंडेशन के जरिए कैथेड्रल में 15 अप्रैल को लगी आग के बाद से यहां काम कर रहे करीब 150 मजदूरों का वेतन दिया है.

नोट्रे डेम चर्च मामला - अरबपति उद्योगपतियों के बड़े वादे पड़े झूठे, मोटे चंदे के नाम पर यूं दिया झांसा

नोट्रे डेम के पुनर्निर्माण के लिए फ्रांस के बड़े उद्योगपतियों ने नहीं दिया एक भी पैसा

पेरिस:

फ्रांस के अरबपति उद्योगपतियों जिन्होंने नोट्रे डेम के पुनर्निर्माण के लिए मोटा चंदा देने का सार्वजनिक तौर पर वादा किया था उन्होंने इस फ्रेंच धरोहर की मरम्मत के लिए अब तक एक भी पैसा नहीं दिया है. 

चर्च एवं कारोबार से जुड़े अधिकारियों ने यह जानकारी दी. 

इन उद्योगपतियों की बजाय मुख्य रूप से अमेरिकी नागरिकों ने फ्रेंड्स ऑफ नोट्रे डेम फाउंडेशन के जरिए कैथेड्रल में 15 अप्रैल को लगी आग के बाद से यहां काम कर रहे करीब 150 मजदूरों का वेतन दिया है.

नोट्रे डेम चर्च 6 साल के लिए बंद, पादरी ने की घोषणा

इस आग में कैथेड्रल की छत एवं शिखर पूरी तरह तबाह हो गया था. इस महीने वह कैथेड्रल के पुनर्निर्माण के लिए 36 लाख यूरो का पहला भुगतान कर रहा है. 

नोट्रे डेम में वरिष्ठ प्रेस अधिकारी आंद्रे फिनोट ने कहा, “बड़े दान देने वालों ने अब तक चंदा नहीं दिया है, एक चवन्नी भी नहीं.”

सऊदी अरब में मक्का के पास खुल रहा है पहला नाइट क्लब, नाम होगा 'हलाल'...पर नहीं मिलेगी ये चीज़

उन्होंने बताया, “वे जानना चाहते हैं कि उनका पैसा असल में कहां खर्च हो रहा है और वे पैसा देने से पहले इस पर सहमत होना चाहते हैं कि ये सिर्फ कर्मचारियों के वेतन के भुगतान के लिए नहीं हो.”

फ्रांस के कुछ सबसे अमीर एवं सबसे ताकतवर परिवारों एवं कंपनियों ने करीब एक अरब डॉलर चंदा देने का वादा किया था लेकिन इनकी ओर से अब तक कोई भुगतान नहीं किया गया.

देखें VIDEO: सऊदी अरब में सुल्तान का 'अपमान करने' के बाद बिश्केक में भी पाक के PM इमरान खान कर बैठे बड़ी गलती

VIDEO: चर्च में लगी आग

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com