NDTV Khabar

पाकिस्तान में तेल के टैंकर में विस्फोट से 151 की मौत, 140 घायल

डॉन की खबर के मुताबिक पंजाब के बहावलपुर में ऑयल से भरे टैंकर की गति काफी तेज थी, जिसके चलते उसका संतुलन बिगड़ गया. टैंकर के गिरते ही उसमें आग लग गई और वह ब्लॉस्ट हो गया.

475 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकिस्तान में तेल के टैंकर में विस्फोट से 151 की मौत, 140 घायल

खास बातें

  1. पाकिस्तान में तेल से भरे टैंकर से बड़ा सड़क हादसा
  2. झुलसने से 100 से ज्यादा लोगों की मौत
  3. सिंध प्रांत के बहावलपुर शहर में हुआ हादसा
लाहौर: पाकिस्तान में पंजाब प्रांत के बहावलपुर जिले में एक राजमार्ग पर रविवार को तेल का एक टैंकर पलट गया और इसमें विस्फोट के साथ भीषण आग लग गई जिससे 150 से ज्यादा लोगों की जलने से मौत हो गई और 140 से अधिक लोग घायल हो गए. टैंकर के क्षतिग्रस्त कंटेनर से तेल रिसने के बाद टैंकर में विस्फोट हो गया और इसमें आग लग गई. बिखरे हुए तेल में आग लगने से ऐसे कई लोग इसकी चपेट में आ गए जो तेल एकत्र करने के लिए वहां पहुंचे थे. टैंकर कराची से लाहौर जा रहा था जब राष्ट्रीय राजमार्ग पर जिले के अहमदपुर शरकिया इलाके में टायर फटने से वह पलट गया. यह क्षेत्र लाहौर से लगभग 400 किमी दूर है. अधिकारियों ने बताया कि वहां फैले पेट्रोल को इकट्ठा करने आसपास के इलाकों में रहने वाले लोग वहां पहुंच गए, इसी बीच वहां पर किसी ने सिगरेट सुलगा ली जिससे आग लग गई. आग की चपेट में बड़ी संख्या में लोग आ गए.

बहावलपुर के जिला समन्वयक अधिकारी (डीसीओ) राणा सलीम अफजल ने इसे पाकिस्तान के इतिहास में 'बड़ी त्रासदी' बताया. अफजल ने बताया कि तेल के टैंकर से 50,000 लीटर पेट्रोल फैल गया. उन्होंने कहा, 'कम से कम 123 लोगों की चिकित्सीय सहायता मिलने से पहले ही मौत हो गई जबकि बचाव अधिकारियों ने 100 से ज्यादा घायलों को बहावलपुर के जिला मुख्यालय अस्पताल और विक्टोरिया अस्पताल पहुंचाया जहां उनमें से ज्यादातर की हालत गंभीर है.' उन्होंने बताया कि घायलों में महिलाएं और बच्चे भी हैं.
 
pakistan
पाकिस्तान में टैंकर में विस्फोट के बाद घटनास्थल का हाल. 

बचाव अधिकारी जेम सज्जाद ने कहा कि आग में 140 लोग मारे गए, यह आंकड़ा और बढ़ सकता है. उन्होंने कहा कि ज्यादातर शव पूरी तरह जल चुके हैं और उनकी पहचान डीएनए परीक्षण के जरिए ही की जा सकेगी. हादसे में घायल 40 वर्षीय मोहम्मद हनीफ ने संवाददाताओं को बताया कि गांववालों का लालच उन्हें मौत के मुंह में ले गया. प्रधानमंत्री नवाज शरीफ, राष्ट्रपति ममनून हुसैन, पाकिस्तान तहरीक ए इस्लाम अध्यक्ष इमरान खान और पीपीपी अध्यक्ष बिलावल भुट्टो ने त्रासदी पर दुख जताया. सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने सेना को बचाव कार्य में नागरिक प्रशासन की मदद करने के लिए आदेश दिया है. बचाव अभियानों में सेना के हेलीकॉप्टर भी तैनात किए गए हैं.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement