Khabar logo, NDTV Khabar, NDTV India

दुबई हादसा: 'सोचा था बस मरने ही वाला हूं', बालकनी से लटककर जान बचाने वाले ने सुनाई आपबीती

ईमेल करें
टिप्पणियां
दुबई हादसा: 'सोचा था बस मरने ही वाला हूं', बालकनी से लटककर जान बचाने वाले ने सुनाई आपबीती

फोटो साभार- रॉयटर्स

दुबई: नए साल की पूर्व संघ्या पर जब दुबई की 48 मंजिला इमारत में आग लगी, तब एक फोटोग्राफर अपनी जान बचाने के लिए बालकनी से लटका रहा। उस समय तो उसे बचने की कोई उम्मीद नहीं लग रही थी। वह आग की लपटों से चंद मीटर ही दूर था। द अड्रेस डाउनटाउन नामक लग्जरी होटल की बालकनी में एक रस्सी के सहारे लटके हुए इस फोटोग्राफर का कहना था- एक घंटा.. और फिर मैंने सोचा कि मैं बस मरने वाला हूं।

चंद मिनट पहले फोटो खींचने बालकनी में आया था
वह आग लगने से चंद ही मिनट पहले अपने दोस्त के साथ बालकनी में आया था ताकि न्यू ईयर संबंधी तस्वीरें खींच सके, लेकिन अचानक आग लग गई और यह लंबी चौड़ी इमारत धू-धू करने जलने लगी। उसका दोस्त चिल्लाया- आग लग गई। वह एग्जिट की ओर भागा। आग उनकी बालकनी की ओर आ चुकी थी।

फोटोग्राफर को लगा धुएं की घुटन से मर जाएगा
इस फोटोग्राफर को लगा कि वह धुएं की घुटन में मर जाएगा। उसे वहां से बच निकलने का कोई मौका नहीं दिख रहा था। तब उसने फैसला किया कि बचने के लिए कुछ करना जरूरी है और खुद को विंडो साफ करने वाले प्लैटफॉर्म पर एक रस्सी से बांध लिया। वहां वह घंटों बालकनी से लटका रहा। फोटोग्राफर ने बताया कि यह रस्सी ही थी, जिसने मुझे बचाया। एएफपी को उसने यह जानकारी देते हुए कहा कि मेरा नाम न लिया जाए और कहा कि मेरे से 10 मीटर दूरी पर ही आग की मोटी लपटें उठ रही थीं।

'मैं सिविल डिफेंस के लोगों को आवाज लगाता रहा'
उसने कहा कि उसे लगा कि वह धुएं में घुटकर मर जाएगा। उसने बताया- मैं नहीं जानता था कि क्या हो रहा है। मुझे डर लग रहा था कि मैं बस अब बेहोश होने वाला हूं। वह लोगों को आवाज देकर बुलाता रहा। अपने सहकर्मियों को मोबाइल से मेसेज करता रहा और मदद की गुहार लगाता रहा कि सिविल डिफेंस को बुलाकर उसकी मदद की जाए। उसने बताया- मैं उन्हें कह रहा था कि मैं बचने की उम्मीद कर रहा हूं और हो सकता है कि अपनी पत्नी को मैं जीतेजी देख पाऊं।

डेढ़ घंटे के बाद बचाव दल उसके फ्लोर तक पहुंचा। उसने बताया- मैंने जब उनके आने की आहट सुनी, मैं बालकनी में लगे अल्यूमिनिय को टैप करने लगा ताकि वे जान जाएं कि मैं कहां हूं। 'मुझे लगा कि मैं ही इकलौता बंदा हूं जो इतनी देर तक अटका हुआ है।' दुबई के पुलिस चीफ ने कहा- आग लगने के कारणों का पता नहीं चल सका है।

दुबई के उस होटल में क्या हुआ था...
दुबई में एक लग्जरी होटल 'द अड्रेस डाउनटाउन' में गुरुवार रात नए साल के जश्न के दौरान भीषण आग लग गई। दुनिया के सबसे ऊंचे टावर बुर्ज खलीफा के पास स्थित होटल में इस हादसे में कम से कम 16 लोगों के घायल होने की खबर है। बुर्ज खलीफा टावर के पास लोग नववर्ष समारोह देखने के लिए एकत्र हुए थे। यह हादसा टावर के पास आतिशबाजी शुरू होने से ठीक पहले हुआ। आग इतनी जबर्दस्त थी कि पूरा होटल आग की लपटों में घिर गया और 63 मंजिला इमारत की कई मंजिलों में आग फैल गई। बुर्ज खलीफा के पास चश्‍मदीदों ने बताया कि होटल से आग की ऊंची-ऊंची लपटें उठ रही थीं। होटल के आस-पास अफरातफरी का माहौल था। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, आग रात साढ़े नौ बजे लगी और तेजी से ऊपर के दर्जनों मंजिलों में फैल गई।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement