NDTV Khabar

भारत में पाकिस्तान और बांग्लादेश से आ रहा है 55 हजार मीट्रिक टन प्लास्टिक कचरा - रिपोर्ट

55 हजार मीट्रिक टन कचरा पाकिस्तान और बांग्लादेश से संयुक्त रूप से आ रहा है. पश्चिम एशिया,यूरोप और अमेरिका सहित 25 से अधिक देशों से प्लास्टिक कचरे का आयात हो रहा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारत में पाकिस्तान और बांग्लादेश से आ रहा है 55 हजार मीट्रिक टन प्लास्टिक कचरा - रिपोर्ट

भारत में विदेशों से आ रहा है 1,21,000 मीट्रिक टन प्लास्टिक कचरा

नई दिल्ली:

भारत में कंपनियों और पुनर्चक्रण कार्य से जुड़ी इकाइयों द्वारा 1,21,000 मीट्रिक टन प्लास्टिक कचरा बड़ी होशियारी से भारत आयात किया जा रहा है, जिससे प्लास्टिक प्रदूषण को कम करने के प्रयास प्रभावित हो रहे हैं. एनजीओ ‘पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति मंच' द्वारा किए गए एक अध्ययन में यह बात कही गई है. 

अध्ययन के मुताबिक इसमें से भारत में 55 हजार मीट्रिक टन प्लास्टिक कचरा केवल पाकिस्तान और बांग्लादेश से आ रहा है.

इसमें कहा गया,‘‘55 हजार मीट्रिक टन कचरा पाकिस्तान और बांग्लादेश से संयुक्त रूप से आ रहा है. पश्चिम एशिया,यूरोप और अमेरिका सहित 25 से अधिक देशों से प्लास्टिक कचरे का आयात हो रहा है.''

इस हॉस्पिटल की 36 नर्स हुईं प्रेग्नेंट, बोलीं - इस अस्पताल का पानी मत पीना वरना...Photo Viral


अध्ययन के मुताबिक भारतीय पुनर्चक्रण इकाइयां और प्लास्टिक कंपनियां इस्तेमाल की गई पीईटी (पॉलीथिलीन टेरेप्थेलेट) प्लास्टिक बोतलों को बड़ी होशियारी से महीन कचरे के रूप में आयात कर रही हैं. वहीं, रोजाना पैदा हो रहे टनों प्लास्टिक कचरे का निस्तारण नहीं हो रहा है और यह सागरों तथा लैंडफिल में डंप किया जा रहा है.

यह अध्ययन अप्रैल 2018 से फरवरी 2019 के बीच किया गया.

बॉर्डर पर झूला झूलते नज़र आए बच्चे, Viral Video के साथ जानिए क्या है मामला

अध्ययन के मुताबिक 19 हजार मीट्रिक टन से अधिक प्लास्टिक कचरा दिल्ली में आयात किया जा रहा है. 

अध्ययन में इस बढ़ते आयात पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा गया कि यह प्लास्टिक प्रदूषण को नियंत्रित करने के प्रयासों को बाधित कर सकता है.

गर्दन तक पानी में डूबकर पाकिस्तानी रिपोर्टर ने ऐसे बताया बाढ़ का हाल, Video हो गया वायरल

इनपुट - भाषा

टिप्पणियां

VIDEO: कहां पहुंचता है हमारा बायोमेडिकल कचरा?



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement