NDTV Khabar

करीब आधी सदी बाद पाक पायलट ने माफी मांगी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. भूलवश भारतीय नागरिक विमान को मार गिराने के करीब आधी शताब्दी बाद पाकिस्तानी वायुसेना के एक पायलट ने उक्त विमान के पायलट की बेटी से इस घटना के लिए माफी मांगी है।
इस्लामाबाद:

वर्ष 1965 की लड़ाई के दौरान भूलवश भारतीय नागरिक विमान को मार गिराने के करीब आधी शताब्दी बाद पाकिस्तानी वायुसेना के एक पायलट ने उक्त विमान के पायलट की बेटी से इस घटना के लिए माफी मांगी है। दरअसल 1965 के भारत पाक युद्ध के दौरान कैस हुसैन पाक वायुसेना के फ्लाइंग अफसर पद पर नए नए आसीन हुए थे और उन्होंने भारतीय विमान बीचक्राफ्ट को मार गिराया था। उस भारतीय विमान को वायुसेना के पूर्व पायलट जहांगीर इंजीनियर उड़ा रहे थे। उसमें गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री बलवंतराय मेहता, उनकी पत्नी सरोजबेन मेहता, उनके तीन निजी सहायक और गुजरात समाचार के एक संवाददाता सवार थे। ये सभी इस हमले में मारे गए। दरअसल पाक वायुसेना के पूर्व अधिकारी कैसर तूफैल हाल ही में इस घटना की व्यापक छानबीन के बीच इस निष्कर्ष पर पहुंचे हैं कि पाकिस्तानी अधिकारियों ने गलत अंदाजा लगाया कि भारतीय विमान निगरानी मिशन पर था। इस निष्कर्ष के बाद इंजीनियर की बेटी को ईमेल भेजने वाले हुसैन ने अपना पक्ष रखने का निर्णय लिया है। हुसैन (70) ने कहा, हम उस समय लड़ाई में थे और जब मैंने विमान को मार गिराया तब प्रारंभिक धारणा यह बनी कि हम एक नये मोर्चे का सफाया करने में कामयाब हुए। हम बहुत खुश थे और मुझे मेरे सहयोगियों ने शाबाशी दी। उन्होंने 19 सितंबर, 1965 की घटना का जिक्र करते हुए कहा, यह शाम करीब चार बजे हुआ। सात बजे आकाशवाणी ने ऐलान किया कि जिस विमान को मार गिराया गया उसमें मुख्यमंत्री सवार थे और हमारा मन खराब हो गया। हम सभी को अफसोस हुआ कि यह क्या हो गया। उन्होंने कहा कि जब एयर कमोडोर (सेवानिवृत) कैसर तूफैल ने इस घटना की छानबीन की और अप्रैल में अपने ब्लॉग पर इसके संबंध में एक आलेख पेश किया, तो वह उन लोगों के परिवारों के प्रति शोक प्रकट करने के लिए उत्साहित हुए जो इस हमले में मारे गए थे। हुसैन ने कहा, मैंने सोचा देर आयद दुरूस्त आयद। मुझे खुशी है कि मैं कुछ (सफाई) कर पा रहा हूं। मैं कहना चाहता हूं कि मैं खून खराबा पसंद करने वाला व्यक्ति नहीं हूं और यह लड़ाई में भ्रम के कारण हुआ।

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement