NDTV Khabar

पाकिस्तान को बड़ा झटका: APG ने ब्लैकलिस्ट की दिशा में बढ़ाया कदम, टैरर फंडिंग पर जवाब से नहीं था संतुष्ट

आतंकी गतिविधियों के लिए धन मुहैया कराने और धन शोधन पर निगरानी रखने वाली वैश्विक निगरानी संस्था ‘फिनांशियल ऐक्शन टास्क फोर्स' (एफएटीएफ) के एशिया-प्रशांत समूह ने पाकिस्तान को ईईएफयूपी (कालीसूची) में डालने के लिए कदम बढ़ा दिया है. अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकिस्तान को बड़ा झटका: APG ने ब्लैकलिस्ट की दिशा में बढ़ाया कदम, टैरर फंडिंग पर जवाब से नहीं था संतुष्ट

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान. (फाइल तस्वीर)

खास बातें

  1. पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान पर कसा शिकंजा
  2. एफएटीएफ ने कालीसूची में डालने के लिए कदम बढ़ाया
  3. पाक ने 40 अनुपालन मानकों में से 32 का पालन नहीं किया
नई दिल्ली:

आतंकी गतिविधियों के लिए धन मुहैया कराने और धन शोधन पर निगरानी रखने वाली वैश्विक निगरानी संस्था ‘फिनांशियल ऐक्शन टास्क फोर्स' (एफएटीएफ) के एशिया-प्रशांत समूह ने पाकिस्तान को ईईएफयूपी (कालीसूची) में डालने के लिए कदम बढ़ा दिया है. अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. 

एशिया प्रशांत समूह (एपीजे) ने यह भी पाया कि पाकिस्तान ने धन शोधन और आतंकवाद के वित्त पोषण संबंधी 40 अनुपालन मानकों में से 32 का पालन नहीं किया. एफएटीएफ एपीजी बैठक ऑस्ट्रेलिया की राजधानी कैनबरा में आयोजित की गई थी और दो दिन में करीब सात घंटे से ज्यादा समय तक चर्चा चली. 

इमरान खान ने कहा, पाकिस्तान अब भारत से वार्ता करने का इच्छुक नहीं

घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले एक भारतीय अधिकारी ने बताया, ‘एपीजे ने पाकिस्तान को मानकों पर खरा नहीं उतरने की वजह से ईईएफयू लिस्ट (काली सूची) में डालने के लिए कदम बढ़ा दिया है.' आतंकवादी गतिविधियों के लिए धन मुहैया कराना और धन शोधन के 11 प्रभावी मानकों में से पाकिस्तान 10 में खरा नहीं उतर पाया.


वहीं एक अन्य अधिकारी ने बताया कि अब पाकिस्तान को अक्टूबर में काली सूची में जाने से बचने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए. अक्टूबर में एफएटीएफ की 27 बिंदू कार्ययोजना की समय-सीमा समाप्त होती है.

टिप्पणियां

पाक पीएम इमरान खान ने विदेशों में रह रहे पाकिस्तानियों से कश्मीर मुद्दे को उठाने को कहा

VIDEO: कश्मीर मुद्दे पर डोनाल्ड ट्रंप ने फिर की मध्यस्थता की पेशकश



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement