NDTV Khabar

पाकिस्तान में सूफी कव्वाल अमजद साबरी के हत्यारे समेत 10 आतंकियों को मौत की सजा

इन आतंकवादियों में प्रसिद्ध सूफी कव्वाल अमजद साबरी के हत्यारे भी शामिल हैं. जून 2016 में अमजद साबरी की कराची में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

982 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकिस्तान में सूफी कव्वाल अमजद साबरी के हत्यारे समेत 10 आतंकियों को मौत की सजा

जून 2016 में अमजद साबरी की कराची में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. (फाइल फोटो)

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने 10 आतंकवादियों को सुनाई गई मौत की सजा को आज मंजूरी प्रदान कर दी. इन आतंकवादियों में प्रसिद्ध सूफी कव्वाल अमजद साबरी के हत्यारे भी शामिल हैं. सेना के मीडिया प्रभाग ने एक बयान में कहा कि विशेष सैन्य अदालतों ने आतंकवादियों की सुनवाई की. ये आतंकवादी 62 लोगों की हत्या और पेशावर में एक पंच सितारा होटल पर हमला सहित कई घृणित मामलों में शामिल रहे हैं. बयान में कहा गया है कि इन आतंकवादियों में से दो सुरक्षा बलों पर हमलों में भी शामिल रहे हैं. ऐसी ही एक घटना में 17 अधिकारियों की मौत हो गई थी.

यह भी पढ़ें : जब अमजद साबरी ने सलमान की 'बजरंगी भाईजान' में इस्तेमाल कव्वाली पर भेजा था कानूनी नोटिस

गौरतलब है कि जून 2016 में अमजद साबरी की कराची में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. अमजद कुछ दिनों पहले बॉलीवुड में भी चर्चा का विषय थे. सलमान खान की फ़िल्म बजरंगी भाईजान में साबरी ब्रदर्स की मशहूर कव्वाली 'भर दो झोली' को शामिल किया गया था, जिस पर अमजद ने नाराज़गी जताई थी. अजमद ने कानूनी नोटिस भेजते हुए आरोप लगाया था कि उनके पिता ग़ुलाम फरीद साबरी की इस प्रसिद्ध कव्वाली को बिना इजाज़त फिल्म में शमिल किया गया था. फ़िल्म में इस गाने को अदनान सामी से गाया, जो काफ़ी मशहूर हुआ था.

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें : साबरी की हत्या के बाद पाकिस्तानी सेना प्रमुख उच्च-स्तरीय बैठक लेने कराची पहुंचे

वहीं इससे पहले 2008 में आई फ़िल्म हल्ला बोल में अमजद साबरी ने चर्चित कव्वाली 'मोरे हाजी पिया' गाया था. 

(इनपुट : भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement