NDTV Khabar

पाकिस्तान ने UN से किया अनुरोध, हाफिज़ सईद को 'परिवार को पालना पड़ता है', खर्चा दिया जाए

पाकिस्तान ने UNSC से आग्रह किया था कि हाफिज़ सईद को 'उसके और उसके परिवार के जीवनयापन के लिए ज़रूरी मूलभूत खर्चों की खातिर' 1,50,000 पाकिस्तानी रुपये निकालने की अनुमति दी जाए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकिस्तान ने UN से किया अनुरोध, हाफिज़ सईद को 'परिवार को पालना पड़ता है', खर्चा दिया जाए

UNSC ने 15 अगस्त को जारी एक खत में जानकारी दी कि अनुरोध को स्वीकार कर लिया गया.

नई दिल्ली:

पाकिस्तान (Pakistan) ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) को लिखे एक खत में कहा है कि आतंकवादी हाफिज़ सईद को 'चार लोगों के परिवार का पालन करना' पड़ता है, और वही उनकी खाने-पहनने की ज़रूरते पूरी करने के लिए ज़िम्मेदार है, इसलिए मुंबई पर हुए 26/11 हमले के मास्टरमाइंड को मासिक खर्चों के लिए पैसा निकालने की अनुमति दी जाए.

UNSC ने 15 अगस्त को जारी एक खत में जानकारी दी कि अनुरोध को स्वीकार कर लिया गया, क्योंकि आपत्ति दर्ज करने के लिए उसी तारीख तक तय की गई डेडलाइन तक कोई भी आपत्ति दर्ज नहीं करवाई गई थी.

समाचार एजेंसी ANI के अनुसार, UNSC की आतंकवादियों पर पाबंदियों की निगरानी करने वाली 1267 कमेटी को लिखे खत में पाकिस्तान ने कहा था, 'हाफिज़ सईद को चार लोगों के परिवार का पालन करना पड़ता है, वह अकेला कमाने वाला है, और उसे ही परिवार के सभी सदस्यों की खाने, पीने और कपड़ों की ज़रूरतों पर खर्च करना पड़ता है...'

मसूद अजहर, हाफिज सईद, दाऊद इब्राहिम नए आतंकवाद निरोधक कानून के तहत आतंकवादी घोषित


पाकिस्तान ने UNSC से आग्रह किया था कि हाफिज़ सईद को 'उसके और उसके परिवार के जीवनयापन के लिए ज़रूरी मूलभूत खर्चों की खातिर' 1,50,000 पाकिस्तानी रुपये निकालने की अनुमति दी जाए.

UNSC की कमेटी ने 15 अगस्त को जारी अधिसूचना में कहा, "अध्यक्ष सदस्यों को यह बताना चाहते हैं कि 15 अगस्त, 2019 तक के लिए तय की गई डेडलाइन तक कोई भी आपत्ति दर्ज नहीं करवाई गई है... इसलिए इस खत को मंज़ूरी दी जाती है, और अध्यक्ष सचिवालय को इसे भेज देने का निर्देश दे देंगे..."

पाकिस्तान ने अपने खत में कहा था कि उनकी सरकार को वर्ष 1974 से 1999 तक लाहौर स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी में 'असिस्टेंट प्रोफेसर के रूप में काम कर चुके' 'एक पाकिस्तानी नागरिक हाफिज़ सईद' की ओर से अनुरोध प्राप्त हुआ है. उसने 25 वर्ष की पेंशनयोग्य सेवा पूरी कर ली थी, और उसे 45,700 की पेंशन उसके बैंक खाते के ज़रिये दी जा रही है. पाकिस्तान ने जानकारी दी कि हाफिज़ सईद का बैंक खाता UNSC के प्रस्ताव 1267 का पालन करते हुए ब्लॉक कर दिया गया था.

कानून में बदलाव के बाद भारत सबसे पहले मसूद अजहर और हाफिज सईद पर कर सकता है कार्रवाई

आतंकवादी गुट लश्कर-ए-तैयबा के संस्थापक और जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज़ सईद पर UNSC ने वर्ष 2008 में मुंबई में हुए आतंकवादी हमले के बाद पाबंदी लगा दी थी, जिसमें 166 लोग मारे गए थे.

पाकिस्तान का यह खत अपनी धरती पर मौजूद आतंकवादियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के पाकिस्तान के दावे के कतई उलट है. मई में पाकिस्तान के आतंकवाद-विरोधी विभाग ने हाफिज़ सईद और उसके गुट जमात-उद-दावा के शीर्ष कमांडरों के खिलाफ आतंकवाद को फंडिंग मुहैया कराने के केस दर्ज किए थे. हाफिज़ सईद को 17 जुलाई को गिरफ्तार कर लिया गया था, और वह इस वक्त लाहौर की कोट लखपत जेल में बंद है.

पाकिस्तान में आतंकी हाफिज सईद की गिरफ्तारी पर ट्रंप प्रशासन को नहीं है 'विश्वास'

हमेशा से पाकिस्तान पर आतंकवादियों को समर्थन देने और उन्हें सुरक्षित ठिकाने उपलब्ध करवाने के आरोप लगाते रहे भारत ने इस गिरफ्तारी को आंख में धूल झोंकने की कोशिश करार दिया था.

टिप्पणियां

(इनपुट ANI से भी)

VIDEO: गिरफ्तार हुआ हाफिज सईद, माजिद मेमन बोले- ईमानदारी से हो कार्रवाई



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement