पाकिस्तान की यूनिवर्सिटी में लड़के-लड़कियों को पास-पास बैठने की मनाही, टाइमटेबल को लेकर भी ऐसा ही कुछ फरमान

पाकिस्तान में एक और शिक्षण संस्थान में छात्र-छात्राओं को एक-दूसरे से अलग बैठाने और इनमें दूरी बनाने का फरमान जारी हुआ है.

पाकिस्तान की यूनिवर्सिटी में लड़के-लड़कियों को पास-पास बैठने की मनाही, टाइमटेबल को लेकर भी ऐसा ही कुछ फरमान

प्रतीकात्मक फोटो

लाहौर:

पाकिस्तान में एक और इंस्टीट्यूट में छात्र-छात्राओं को एक-दूसरे से अलग बैठाने और इनमें दूरी बनाने का फरमान जारी हुआ है. पाकिस्तानी मीडिया में छपी रिपोर्ट के अनुसार, लाहौर स्थित बहरिया यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार ने अधिसूचना जारी कर अपने टीचरों से यह सुनिश्चित करने को कहा है कि क्लास में छात्र व छात्राएं अलग-अलग बैठें. इसमें यह भी सुनिश्चित करने को कहा गया है कि किसी भी एजुकेशनल प्रोजेक्ट के लिए जब स्टूडेंट्स का ग्रुप बनाया जाए तो यह सुनिश्चित कर लिया जाए कि एक ही समूह में लड़के व लड़कियां एक साथ न हों. लड़कियों का ग्रुप अलग हो और लड़कों का अलग. 

जम्मू-कश्मीर पर 'घड़ियाली आंसू' बहाने वाला पाकिस्तान इस साल 2050 बार कर चुका है सीजफायर का उल्लंघन

मीडिया रिपोर्ट में इस अधिसूचना की आलोचना करते हुए इसे अजीब करार दिया गया है. इसमें कहा गया है कि इस अजूबी अधिसूचना में यह भी तय करने का निर्देश दिया गया है कि टाइमटेबल इस तरह से बनाया जाए कि लड़के-लड़कियों को यूनिवर्सिटी के एक भवन से दूसरे भवन में जाने के लिए कम से कम वक्त मिले. जब वक्त नहीं होगा, क्लास हर वक्त लगी रहेगी तो फिर छात्र-छात्राओं के लिए मिलने-जुलने की संभावनाएं कम से कम हो जाएंगी. 

NCP प्रमुख शरद पवार ने की पाकिस्तान की तारीफ, कहा- मुझे वहां बहुत 'आदर' मिला...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

रिपोर्ट में कहा गया है कि यह अभी साफ नहीं है कि पूरे देश में फैले बहरिया शिक्षा संस्थानों में यह अधिसूचना लागू होगी या फिर यह केवल लाहौर के बहरिया विश्वविद्यालय के लिए है. इस अधिसूचना की पाकिस्तान में ट्विटर पर जमकर आलोचना हो रही है और इसे रेग्रेसिव यानि की प्रतिगामी कदम करार दिया जा रहा है. 

Video: पाकिस्तान को आतंकवाद पर लगाम लगानी चाहिएः राजनाथ सिंह