NDTV Khabar

पाकिस्तान : इमरान सरकार को पैसों की दरकार, कार से लेकर भैंसों तक की नीलामी, कुल कर्ज बढ़कर हुआ 30,000 अरब रुपये

पैसे की कमी से जूझ रही पाकिस्तान की नयी सरकार कार किफायत बचाने के लिए लक्जरी कारों से लेकर भैंस तक की नीलामी कर रही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकिस्तान : इमरान सरकार को पैसों की दरकार, कार से लेकर भैंसों तक की नीलामी, कुल कर्ज बढ़कर हुआ 30,000 अरब रुपये

पाकिस्तान के पीएम इमरान खान (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. इमरान सरकार को पैसों की दरकार
  2. कार से लेकर भैंसों तक की नीलामी
  3. कुल कर्ज बढ़कर हुआ 30,000 अरब रुपये
इस्लामाबाद:

पैसे की कमी से जूझ रही पाकिस्तान की नयी सरकार कार किफायत बचाने के लिए लक्जरी कारों से लेकर भैंस तक की नीलामी कर रही है. नए प्रधानमंत्री इमरान खान की किफायत बरतने की मुहिम के तहत प्रधानमंत्री आवास की 102 लग्जरी कारों में से 70 कारें सोमवार को नीलाम की गयीं. मीडिया की रपटों के मुताबिक, इन कारों के लिए बाजार से ऊंचा दाम मिला. अब प्रधानमंत्री आवास की आठ भैंसें बेचने की योजना है. खान के एक करीबी सहयोगी ने पिछले सप्ताह बताया था कि पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने प्रधानमंत्री आवास में आठ भैंसें पाल रखी थीं. इन्हें भी नीलाम किया जाएगा. 

पाकिस्तान में अभी भी आतंकवाद फल-फूल रहा है, सेना ने ही इमरान को सत्ता में बिठाया: वीके सिंह

पाकिस्तान सरकार पर कर्ज और देनदारियों का भारी बोझ है. प्रधानमंत्री के विशेष सहायक (राजनीतिक मामले) नईम-उल-हक ने कहा कि सरकार मंत्रिमंडल के उपयोग के लिए रखे गए चार हेलीकॉप्टर भी नीलाम करेगी. इनका इस्तेमाल नहीं हो रहा है. पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने सोमवार को संवाददाताओं से कहा कि 70 कारों की पहली खेप बेची जा चुकी है. चौधरी ने दावा किया, ‘‘इन कारों को बाजार मूल्य अधिक दर पर बेचा गया है.’’ 


इमरान खान की पूर्व पत्नी ने पाकिस्तान सरकार पर साधा निशाना, कट्टरपंथियों के आगे झुकने का लगाया आरोप

टिप्पणियां

इनमें मर्सिडीज बेंज के चार नये मॉडल, आठ बुलेट प्रुफ बीएमडब्ल्यू, तीन 5000 सीसी एसयूवी और दो 3000 सीसी एसयूवी शामिल हैं. उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान का कुल कर्ज बढ़कर पिछले वित्त वर्ष के अंत तक करीब 30 हजार अरब रुपये पर पहुंच गया है. 

VIDEO: मिशन 2019: नए दौर में सुधरेंगे भारत-पाक रिश्‍ते?
यह पाकिस्तान के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 87 प्रतिशत है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement