NDTV Khabar

पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिंदुओं की संपत्ति पर जबरन कब्जे का आरोप, महिला प्रोफेसर ने बयां किया दर्द, देखें- VIDEO

पाकिस्तान में हिंदुओं की संपत्ति पर कथित तौर पर अतिक्रमण का मामला सामने आया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिंदुओं की संपत्ति पर जबरन कब्जे का आरोप, महिला प्रोफेसर ने बयां किया दर्द, देखें- VIDEO

पाकिस्तान के प्रधान न्यायाधीश साकिब निसार ने आरोपों का संज्ञान लिया है.

खास बातें

  1. महिला प्रोफेसर ने जारी किया वीडियो
  2. वीडियो के जरिये लगाया आरोप
  3. अदालत ने लिया मामले का संझान
नई दिल्ली :
टिप्पणियां
पाकिस्तान (Pakistan) में हिंदुओं की संपत्ति पर कथित तौर पर अतिक्रमण का मामला सामने आया है. एक महिला प्रोफेसर ने अपने वीडियो संदेश में आरोप लगाया है कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिंदू अराजकता और कुप्रबंधन का सामना कर रहे हैं. प्रोफेसर डॉ. भगवान देवी के वीडियो संदेश पर पाकिस्तान के प्रधान न्यायाधीश साकिब निसार ने संज्ञान लिया है और उन्होंने इस मामले पर केन्द्रीय और सिंध प्रांत के अधिकारियों को नोटिस जार कर जवाब तलब किया है. न्यायमूर्ति साकिब निसार के कार्यालय ने कहा है कि उन्होंने डॉ. भगवान देवी की याचिका पर विचार करने का फैसला किया और इस मामले में 18 अक्टूबर को सुनवाई होगी.
 
अदालत ने पाकिस्तान के अटार्नी जनरल, सिंध के महाधिवक्ता, धार्मिक मामलों एवं अंतरधर्म सौहार्द मंत्रालय, मानवाधिकार सचिव, सिंध के प्रमुख सचिव, अल्पसंख्यक मामलों के विभाग के सचिव, सिंध सरकार और लाड़काना जिले के आयुक्त को नोटिस जारी किये. ‘डॉनन्यूज टीवी’ ने खबर दी कि वीडियो में देवी ने कहा कि सिंध का हिन्दू समूदाय देश में ‘‘बदतरीन अराजकता और कुप्रबंधन’’ का सामना कर रहा है. महिला प्रोफेसर ने कहा कि भू माफिया सिंध के विभिन्न इलाकों विशेषकर लाड़काना में हिन्दुओं को उनकी संपत्ति से जबरन बेदखल कर रहे हैं. लाड़काना भुट्टो परिवार का गृह शहर है. आपको बता दें कि डॉ. भगवान देवी का वीडियो सामने आने के बाद पाकिस्तान में हिंदुओं की स्थिति पर चर्चा छिड़ गई है.
(इनपुट- भाषा से भी) 

VIDEO:DRDO का कर्मचारी, पाक का जासूस?


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement