NDTV Khabar

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान बोले, कश्मीर मुद्दे का हल जंग नहीं

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सोमवार को कहा कि जंग कश्मीर मुद्दे का हल नहीं है और इसे बातचीत के जरिये सुलझाया जा सकता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान बोले, कश्मीर मुद्दे का हल जंग नहीं

इमरान खान ने कहा कि जब तक कि कोई बातचीत शुरू नहीं होती, तब तक कश्मीर मुद्दे को सुलझाने के विभिन्न विकल्पों पर चर्चा नहीं की जा सकती है.

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सोमवार को कहा कि जंग कश्मीर मुद्दे का हल नहीं है और इसे बातचीत के जरिये सुलझाया जा सकता है. खान ने यहां समाचार चैनलों के पत्रकारों के एक समूह को दिये साक्षात्कार में खान ने कहा कि जब तक कि कोई बातचीत शुरू नहीं होती, तब तक कश्मीर मुद्दे को सुलझाने के विभिन्न विकल्पों पर चर्चा नहीं की जा सकती है. जब उनसे कश्मीर मुद्दे को सुलझाने के फॉर्मूला के बारे में पूछा गया तब खान ने कहा कि इसके दो या तीन समाधान हैं, जिसपर चर्चा की गई हैं. हालांकि, उन्होंने इस बारे में अधिक जानकारी साझा करने से इनकार करते हुये कहा, ‘‘इसपर बात करना अभी काफी जल्दीबाजी होगी.

इमरान खान ने फेंकी 'गुगली', भारत ने करतारपुर के कार्यक्रम में भेजे मंत्री : पाक विदेशमंत्री

भारत के साथ किसी युद्ध की संभावना को खारिज करते हुये उन्होंने कहा कि परमाणु हथियार संपन्न दो देश युद्ध नहीं कर सकते क्योंकि इसका परिणाम हमेशा खतरनाक होता है. उन्होंने कहा भारत के साथ शांतिपूर्ण संबंध बनाने के लिए पाकिस्तान अत्यधिक गंभीर है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की सेना और उनकी सरकार भी यही चाहती है. इससे पहले इमरान खान ने करतारपुर कॉरिडोर को लेकर पैदा हुए विवाद को खत्म करने की कोशिश करते हुए कहा था कि करतापुर कॉरिडोर को खोलना ‘गुगली' फेंकना नहीं, बल्कि यह एक स्पष्ट फैसला था. 

टिप्पणियां
पाक मंत्री के 'गुगली' वाले बयान पर सुषमा स्वराज का पलटवार, कहा- यह सिखों के लिए बेहद अपमानजनक टिप्पणी

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement