पाकिस्‍तान: ऑक्‍सीजन की कमी से अस्‍पताल में कोरोना मरीजों की मौत, स्‍टाफ सस्‍पेंड

रिपोर्ट के मुताबिक, अस्‍पताल में ऑक्‍सीजन की कमी है, इस बारे में न तो ध्‍यान दिया गया और न ही इसकी जांच की गई. यही नहीं, 'बैकअप' ऑक्‍सीजन सप्‍लाई भी व्‍यवस्‍था भी नहीं थी. इस मामले में सस्‍पेंड किए गए कर्मचारियों में अस्‍पताल के डायरेक्‍टर शामिल हैं.  

पाकिस्‍तान: ऑक्‍सीजन की कमी से अस्‍पताल में कोरोना मरीजों की मौत, स्‍टाफ सस्‍पेंड

पाकिस्‍तान में कोविड-19 के अब तक चार लाख से अधिक केस सामने आ चुके हैं

खास बातें

  • पाकिस्‍तान के पेशावर के सरकारी अस्‍पताल की घटना
  • सस्‍पेंड किए गए लोगों में अस्‍पताल के डायरेक्‍टर भी
  • पाकिस्‍तान में सामने आए हैं कोरोना के चार लाख से ज्‍यादा केस
इस्‍लामाबाद :

पाकिस्‍तान के एक अस्‍पताल (Pakistan hospital) के उन सात कर्मचारियों को सस्‍पेंड कर दिया गया है जो पर्याप्‍त ऑक्‍सीजन के बगैर कई कोविड-19 मरीजों को घंटों तक छोड़कर चले गए थे. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. इन मरीजों में से कुुुछछ की बाद में मौत हो गई थी. रविवार को आई शुरुआती रिपोर्ट के अनुसार, पाक‍िस्‍तान के  पेशावर (Peshawar) के सरकारी अस्‍पताल में कोविड आइसोलेशन वार्ड के पांच और इनटेनसिव केयर यूनिट (ICU) के एक मरीज की ऑक्‍सीजन देने में देरी के कारण मौत हो गई.

पाकिस्‍तान की जेल में कैद रहे 70 साल के शमसुद्दीन लौटे 'घर', कानपुर में परिवार से मिलकर हुए भावुक...


इस रिपोर्ट के मुताबिक, अस्‍पताल में ऑक्‍सीजन की कमी है, इस बारे में न तो ध्‍यान दिया गया और न ही इसकी जांच की गई. यही नहीं, 'बैकअप' ऑक्‍सीजन सप्‍लाई भी व्‍यवस्‍था भी नहीं थी. इस मामले में सस्‍पेंड किए गए कर्मचारियों में अस्‍पताल के डायरेक्‍टर शामिल हैं.  प्रोविंस के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री तैमूर सलीम जांगरा ने एएफपी की बताया कि प्रशासन ने मामले की दूसरी विस्‍तृत रिपोर्ट तलब की है. उन्‍होंने कहा कि अस्‍पताल के स्‍टाफ के कुछ लोगों की छुट्टी थी जबकि कुछ गैरमौजूद थे. इस कारण कोई वैकल्पिक इंतजाम नहीं था. यहां तक कि इमरजेंसी स्‍क्‍वॉड भी उपलब्‍ध नहीं था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्‍पताल के प्रवक्‍ता फरहाद खान के अनुसार, ऑक्‍सीजन सप्‍लाई में बाधा के कारण अब 200 लोग प्रभावित हुए, इसमें से करीब 100 कोविड-19 मरीज थे. गौरतलब है कि पाकिस्‍तान में अब तक कोरोना वायरस के चार लाख से अधिक केस सामने आए हैं और कोविड-19 के कारण यहां अब तक आठ हजार से अधिक लोगों की जान गई है. पाकिस्‍तान में कोरोना का पहला केस फरवरी माह में सामने आया था. मुल्‍क में कोरोना महामारी की आलम यह है कि लगभग सभी आईसीयू वार्ड मरीजों से ठसाठस हैं. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)