NDTV Khabar

पाकिस्तान ने अपने परमाणु ठिकानों को निशाना बनाने को लेकर भारत को चेतावनी दी

'डॉन न्यूज' की रिपोर्ट के मुताबिक, आसिफ ने गुरुवार को भारतीय वायु सेना के प्रमुख बी.एस. धनोआ के उस बयान पर प्रतिक्रिया दी, जिसमें उन्होंने (धनोआ) कहा था कि अगर सर्जिकन स्ट्राइक करने की जरूरत पड़ी तो उनका लड़ाकू विमान पाकिस्तान के परणाणु ठिकानों को निशाना बना सकता है और उन्हें नेस्तनाबूद कर सकता है. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकिस्तान ने अपने परमाणु ठिकानों को निशाना बनाने को लेकर भारत को चेतावनी दी

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ.

खास बातें

  1. भारत के वायुसेना प्रमुख के बयान पर बिफरा पाकिस्तान
  2. विदेशमंत्री आसिफ ने चेतावनी दी
  3. परमाणु केंद्रों को निशाना बनाने की कही थी बात
वाशिंगटन: पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा मोहम्मद आसिफ ने चेतावनी दी है कि भारत अगर देश (पाकिस्तान) के परमाणु ठिकानों पर सर्जिकल स्ट्राइक करता है, तो किसी को भी इस्लामाबाद से संयम बरतने की उम्मीद नहीं करनी चाहिए.  'डॉन न्यूज' की रिपोर्ट के मुताबिक, आसिफ ने गुरुवार को भारतीय वायु सेना के प्रमुख बी.एस. धनोआ के उस बयान पर प्रतिक्रिया दी, जिसमें उन्होंने (धनोआ) कहा था कि अगर सर्जिकन स्ट्राइक करने की जरूरत पड़ी तो उनका लड़ाकू विमान पाकिस्तान के परणाणु ठिकानों को निशाना बना सकता है और उन्हें नेस्तनाबूद कर सकता है. 

विदेश मंत्री ने यहां 'यूनाइटेड स्टेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ पीस' पर एक चर्चा के दौरान भारतीय नेताओं से ऐसा कोई कदम नहीं उठाने की चेतावनी देते हुए कहा कि इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं. 

यह भी पढ़ें : पाकिस्तान की सेना का बयान- भारत ने पूर्वी सीमा को असुरक्षित बनाया, हमारे लिए खतरा

टिप्पणियां
आसिफ ने कहा, "कल (बुधवार) भारतीय वायु सेना प्रमुख ने कहा कि हम एक और सर्जिकल स्ट्राइक के जरिए पाकिस्तान के परमाणु ठिकानों पर हमला करेंगे. अगर ऐसा होता है, तो किसी को भी हमसे संयम बरतने की उम्मीद नहीं करनी चाहिए. यह सबसे कूटनीतिक भाषा है, जिसका मैं इस्तेमाल कर सकता हूं. " 

वाशिंगटन की तीन दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर आए विदेश मंत्री ने अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन के साथ वार्ता करने के एक दिन बाद गुरुवार को अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जनरल एच.आर. मैकमास्टर से मुलाकात की. 
VIDEO: भारतीय वायुसेना प्रमुख का बयान

जहां पाकिस्तान और अमेरिका दोनों ने आसिफ-टिलरसन की मुलाकात को सकारात्मक व उपयोगी बताया, वहीं विदेश मंत्री (आसिफ) ने संकेत दिया कि मैकमस्टर के साथ उनकी मुलाकात इससे पहली मुलाकात के मुकाबले उतनी बेहतर नहीं रही. (भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement