ISI और पाकिस्तान की सेना के खिलाफ बोला पाकिस्तानी ब्लॉगर, कुछ ही घंटों बाद जंगल में मिली उसकी लाश

22 वर्षीय चर्चित सोशल मीडिया कार्यकर्ता और ब्लॉगर मुहम्मद बिलाल खान के ट्विटर पर 16 हजार फॉलोवर हैं. यूट्यूब पर 48 हजार सस्क्राइबर और फेसबुक पर 22 हजार लोग फॉलो करते हैं.

ISI और पाकिस्तान की सेना के खिलाफ बोला पाकिस्तानी ब्लॉगर, कुछ ही घंटों बाद जंगल में मिली उसकी लाश

पाकिस्तानी सेना के खिलाफ बोलने वाले युवक की हत्या

इस्लामाबाद:

पाकिस्तान की सेना और इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) एजेंसी की आलोचना करने पर 22 वर्षीय चर्चित सोशल मीडिया कार्यकर्ता और ब्लॉगर मुहम्मद बिलाल खान की अज्ञात हमलावरों ने हत्या कर दी. पुलिस ने यह जानकारी दी. डॉन अखबार ने पुलिस अधीक्षक सदर मलिक नईम के हवाले से कहा कि 16 जून रात बिलाल अपने चचेरे भाई के साथ था, जब उसे इस्लामाबाद के बारा काहू क्षेत्र से जी-9 जाने के लिए एक फोन कॉल आया. वहां एक आदमी उसे जंगल में ले गया. इसके बाद बिलाल और उसके चचेरे भाई पर खंजर से हमला किया गया. 

हमले में बिलाल की मौत हो गई, जबकि उसका चचेरा भाई गंभीर रूप से घायल हो गया.

बिलाल को सोमवार (17 जून) सुबह सुपुर्द-ए-खाक किया गया. 

अमित शाह बोले- 'एक और स्ट्राइक...' तो भड़क गए पाकिस्तान सेना के प्रवक्ता, बोले- 'स्ट्राइक और मैच में...'

ब्लॉगर बिलाल के ट्विटर पर 16 हजार फॉलोवर हैं. यूट्यूब पर 48 हजार सस्क्राइबर और फेसबुक पर 22 हजार लोग फॉलो करते हैं.

बिलाल के पिता अब्दुल्ला के अनुसार, उनके बेटे के शरीर पर एक धारदार औजार के निशान थे. उन्होंने कहा कि इस घटना ने लोगों में खौफ पैदा कर दिया है. 

अब्दुल्ला ने उन लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है, जिन्होंने उनके बेटे की हत्या की और परिवार के एक सदस्य को घायल कर दिया.

पत्रकार को थप्पड़ मारने के मामले में पाक मंत्री ने दी सफाई, कहा- 'उसने मुझे भारतीय जासूस कहा था'

खबरों के मुताबिक, बिलाल खान स्वतंत्र पत्रकार भी था. उसकी हत्या इसलिए की गई, क्योंकि उसने कुछ घंटों पहले नवनियुक्त इंटेलिजेंस (ISI) प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल फैज हमीद की आलोचना की थी.

इनपुट-आईएएनएस

VIDEO: क्या ऑपरेशन बालाकोट से NDA को हुआ फायदा?

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com