पाकिस्तानी सरकार की देनदारियों में इजाफा, 15 महीने में 40 फीसदी तक बढ़ा कर्ज

पाकिस्तान की इमरान खान सरकार (Imran Khan Govt) ने यह माना है कि उसने सीमा से परे जाकर कर्ज लेकर फिस्कल रिस्पांसिबिलिटी एंड डेट लिमिटेशन एक्ट का उल्लंघन किया है.

पाकिस्तानी सरकार की देनदारियों में इजाफा, 15 महीने में 40 फीसदी तक बढ़ा कर्ज

पाकिस्तान सरकार पर लगातार कर्ज में बढ़ोतरी होती जा रही है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • पाकिस्तानी सरकार पर कर्ज में इजाफा
  • 15 महीने में 40 फीसदी तक बढ़ा कर्ज
  • घरेलू कर्ज में 38 फीसदी का इजाफा
इस्लामाबाद:

पाकिस्तान (Pakistan) में 15 महीने की अवधि के दौरान सरकारी कर्ज और देनदारियों में 40 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. इस खुलासे के बाद इमरान खान सरकार (Imran Khan Govt) ने यह माना है कि उसने सीमा से परे जाकर कर्ज लेकर फिस्कल रिस्पांसिबिलिटी एंड डेट लिमिटेशन एक्ट का उल्लंघन किया है. पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है.

रिपोर्ट में बताया गया है कि वित्त मंत्रालय ने देश पर कर्ज के हवाले से संसद में पेश नीतिगत बयान में कहा कि 2018 की समाप्ति पर कुल कर्ज व देनदारियां 290 खरब 87 अरब 90 करोड़ पाकिस्तानी रुपये थीं। यह सितंबर 2019 तक 410 खरब 48 अरब 90 करोड़ रुपये से अधिक हो गईं. इसमें 110 खरब 60 अरब रुपये (39 फीसदी) की बढ़ोतरी हुई है.

पाकिस्तान के PM इमरान खान पर बॉलीवुड डायरेक्टर का निशाना, बोले-उन्हें कोच होना चाहिए था पीएम नहीं...

पाकिस्तानी वित्त मंत्रालय ने बताया कि साल 2019 की समाप्ति तक कुल कर्ज और देनदारियों में 35 फीसदी, 100 खरब 34 अरब 40 करोड़ रुपये की वृद्धि हुई और यह 402 खरब 23 अरब 30 करोड़ रुपये तक पहुंच गया. बीते 15 महीने के दौरान सरकार के घरेलू कर्ज में 38 फीसदी और विदेशी कर्ज में 36 फीसदी का इजाफा हुआ है.

VIDEO: इमरान खान ने मुझे और नवजोत को दिया न्योता : नवजोत कौर



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com