NDTV Khabar

पाकिस्तानी बस ड्राइवर के बेटे साजिद जावेद ब्रिटेन के नए गृह मंत्री बने

पाकिस्तानी मूल के सांसद साजिद जावेद को ब्रिटेन का नया गृह मंत्री नियुक्त किया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकिस्तानी बस ड्राइवर के बेटे साजिद जावेद ब्रिटेन के नए गृह मंत्री बने

साजिद जावेद ब्रिटेन के नए गृह मंत्री बनाए गए हैं.

लंदन: पाकिस्तानी मूल के सांसद साजिद जावेद को ब्रिटेन का नया गृह मंत्री नियुक्त किया गया. इस नियुक्ति से कुछ घंटे पहले पूर्व गृह मंत्री अंबर रूड ने यह स्वीकारते हुए इस्तीफा दिया था कि प्रवासियों के निर्वासन लक्ष्यों की सच्चाई को लेकर उन्होंने संसद को 'अनजाने में गुमराह' किया था. वर्ष 1960 के दशक में ब्रिटेन से आकर बसे एक पाकिस्तानी बस चालक के बेटे जावेद को उनके समुदाय, स्थानीय सरकार एवं आवासीय मंत्री के कैबिनेट पद से पदोन्नत करके नई जिम्मेदारी दी गई है.

पूर्व निवेश बैंकर जावेद (48) ब्रिटिश कैबिनेट में अहम पद की जिम्मेदारी संभालने वाले दक्षिण एशियाई मूल के पहले सांसद बन गये. वह ब्रोम्सग्रोव से कंजरवेटिव पार्टी के सांसद हैं और ब्रिटिश सरकार में पहले भी व्यापार एवं संस्कृति मंत्रालय की बागडोर संभाल चुके हैं.

डाउनिंग स्ट्रीट ने एक बयान में कहा कि महारानी ने साजिद जावेद, सांसद को गृह विभाग का मंत्री नियुक्त करने की मंजूरी दी. उनकी नियुक्ति को तथाकथित 'विंडरश' प्रकरण से पैदा स्थिति से निपटने के तरीके के रूप में देखा जा रहा है. यह प्रकरण नागरिकता संबंधी दस्तावेजों की कमी को लेकर जमैका से आए राष्ट्रमंडल नागरिकों से अनुचित व्यवहार को प्रकाश में लेकर लाया था. जावेद ने 'द संडे टेलीग्राफ' में लिखा, 'जब मैंने कुछ विषयों के बारे में सुनना और पढ़ना शुरू किया तो मैं सच में चिंता में था. इसने मुझ पर तुरंत प्रभाव छोड़ा. मैं दूसरी पीढ़ी का प्रवासी हूं. मेरे माता-पिता विंडरश पीढ़ी की तरह इस देश में आए थे.' 

टिप्पणियां
जनवरी में स्वास्थ्य कारणों से उत्तरी आयरलैंड के मंत्री के पद से इस्तीफा देने वाले जेम्स ब्रोकनशर को जावेद द्वारा छोड़े गये आवासीय, समुदाय एवं स्थानीय सरकार मंत्री पद की जिम्मेदारी दी गई है. प्रधानमंत्री थेरेसा मे की अहम सहयोगी 52 वर्षीय अंबर का इस्तीफा ऐसे समय हुआ जब उन पर ब्रिटेन से अवैध प्रवासियों को हटाने के लिए किसी लक्ष्य की जानकारी से इनकार को लेकर संसद की गृह मामलों की प्रवर समिति के सामने उनके बयान के बाद से उन पर दबाव था. अंबर ने इस्तीफे के बारे में अपने निर्णय की जानकारी प्रधानमंत्री थेरेसा मे को टेलीफोन पर दी.

हालांकि एक अधिकारिक पत्र में उन्होंने लिखा है, 'बहुत खेद के साथ मैं गृह मंत्री के पद से इस्तीफा दे रही हूं.' अंबर ने कहा, 'मैं समझती हूं कि यह करना आवश्यक है, क्योंकि मैंने गृह मंत्रालय की प्रवर समिति को विंडरश मुद्दे पर पूछताछ के दौरान अवैध प्रवासियों को हटाये जाने के मामले में मैंने अनजाने में उन्हें गुमराह किया.' थेरेसा में ने अंबर के इस्तीफे की पुष्टि की और कहा कि मैं समझ सकती हूं कि अंबर ने इस्तीफा क्यों दिया. उन्होंने कहा, 'मुझे इस्तीफा पाकर बहुत दुख हुआ.' डाउनिंग स्ट्रीट के एक प्रवक्ता ने बताया, 'प्रधानमंत्री ने गृह मंत्री का इस्तीफा स्वीकार कर लिया.' 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement