यह ख़बर 26 नवंबर, 2014 को प्रकाशित हुई थी

यात्रियों ने शून्य से 52 डिग्री नीचे के तापमान में विमान को लगाया धक्का

यात्रियों ने शून्य से 52 डिग्री नीचे के तापमान में विमान को लगाया धक्का

साइबेरिया में प्लेन को धक्का लगाते यात्री

मॉस्को:

साइबेरिया में विमान यात्रियों को शून्य से 52 डिग्री कम तापमान में अपने विमान से उतरकर उसे धक्का लगाना पड़ा क्योंकि ठंड के कारण विमान की चेसी जम गई थी।

यह कहानी तब सामने आई जब एक यात्री ने यू-ट्यूब पर वीडियो पोस्ट किया जिसमें इगारका में बर्फ से ढंके रनवे पर कुछ यात्री टुपोलेव विमान को धक्का देते दिखाई पड़ रहे हैं। यह स्थान आर्कटिक सर्किल से बाहर है।

सर्दी से बचने के लिए मोटे कोट पहने हुए यात्री विमान के पंख पर हाथ रखे हुए 'चलते हैं' चिल्ला रहे हैं और इसे रनवे पर कई मीटर तक धक्का दे रहे हैं।

एक व्यक्ति ने कहा, 'हर कोई घर जाना चाहता है।' पश्चिम साइबेरिया में परिवहन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि वह घटना की जांच कर रहे हैं जो कल की है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

अधिकारियों ने पुष्टि की, 'कम तापमान के कारण चेसीज ब्रेक प्रणाली जम गई और एक ट्रक विमान को टैक्सीवे तक ले जाने में विफल रहा ताकि इसे उड़ाया जा सके।' उन्होंने कहा, 'विमान में सवार यात्री बाहर निकल आए और इसे टैक्सीवे की तरफ धक्का देना शुरू कर दिया।'

दैनिक अखबार कोमसोमोलस्कया प्रवदा ने कहा, 'साइबेरिया के लोग इतने मजबूत होते हैं कि उनके लिए विमान को धक्का देना आसान है।' सोशल मीडिया में भी यात्रियों की खूब प्रशंसा की जा रही है।