NDTV Khabar

नवाज शरीफ बेटी के साथ पहुंचे पाकिस्तान, गिरफ्तार किया गया

एयरपोर्ट पहुंचने के बाद इमिग्रेशन चेकिंग के दौरान नवाज और मरियम के पासपोर्ट ले लिए गए. उसके बाद दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नवाज शरीफ बेटी के साथ पहुंचे पाकिस्तान, गिरफ्तार किया गया
लाहौर: भ्रष्टाचार के एक मामले में दोषी करार दिये जाने के एक हफ्ते बाद शुक्रवार को पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ गिरफ्तारी का सामना करने के लिए अपनी बेटी मरियम के साथ स्वदेश लौट आए. अबु धाबी से लाहौर पहुंचे नवाज शरीफ को हवाई अड्डे पर ही गिरफ्तार कर लिया गया. अबूधाबी से उनके साथ बेटी मरियम भी लाहौर पहुंची. दोनों के पासपोर्ट लेने के बाद NAB ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया और विशेष विमान से इस्लामाबाद ले जाया गया. नवाज शरीफ को 10 साल और उनकी बेटी को 7 साल की सज़ा हुई है. नवाज शरीफ की मां एयरपोर्ट पर उनसे मिलने के लिये पहुंची थीं लेकिन उनकी मुलाकात नहीं हो सकी. पाक मीडिया की मानें तो पूरे मामले को ध्यान में रखते हुए पंजाब सूबे में इंटरनेट सर्विस बंद कर दी गई है.

उधर लाहौर की सड़कों पर नवाज शरीफ समर्थकों का हुजुम उमड़ा. समर्थकों और सुरक्षाबलों में झड़प भी हुई जिसके बाद कई समर्थकों को गिरफ्तार भी किया गया.

शरीफ और मरियम को लेकर आ रहा विमान भारतीय समयानुसार रात करीब सवा नौ बजे लाहौर के अल्लामा इकबाल हवाई अड्डे पर पहुंचा. विमान अपने निर्धारित समय से करीब तीन घंटे देर से आया. एतिहाद एयरवेज की उड़ान ईवाई-243 अबू धाबी से लाहौर पहुंची. यहां आने से पहले शरीफ और उनकी बेटी लंदन से संयुक्त अरब अमीरात की राजधानी अबू धाबी पहुंचे थे. शरीफ की पत्नी कुलसुम लंदन के अस्पताल में जिदंगी मौत की जंग लड़ रही हैं. पाकिस्तान के भ्रष्टाचार निरोधक निकाय के अधिकारी, शरीफ और उनकी बेटी को हिरासत में लेने के लिए हवाई अड्डे पर मौजूद थे. दोनों को छह जुलाई को लंदन में चार आलीशान फ्लैटों की मिल्कियत से जुड़े एवेनफील्ड संपत्ति मामले में दोषी ठहराया गया था. शरीफ (68) और उनकी बेटी मरियम (44) को एक जवाबदेही अदालत ने क्रमश: दस और सात साल की कैद की सजा सुनायी है. राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) और कार्यवाहक सरकार ने घोषणा की थी कि हवाई अड्डे पर पहुंचने पर उन्हें हिरासत में ले लिया जाएगा.

NDTV EXCLUSIVE: मैं किसी भी संभावित परिणाम के लिए तैयार हूं - नवाज शरीफ

इससे पहले पाकिस्‍तान आने के क्रम अबु धाबी पहुंचे नवाज शरीफ ने मीडिया से बात की. अबू धाबी में हमारी संवाददाता मुनीजे जहांगीर उनके साथ थीं. नवाज़ शरीफ ने पाकिस्तान आते वक्त विमान में ही कहा, "मैं अपनी पत्नी को बेहोशी की हालत में छोड़कर आया हूं... ज़ाहिर है, मैं एक उद्देश्य लेकर पाकिस्तान लौट रहा हूं, जनता मेरा उद्देश्य जानती है... प्रेस को भी एक स्टैंड लेना चाहिए... मैं किन्हीं भी हालात के लिए तैयार हूं... मुझे लाहौर में गिरफ्तार किया जा सकता है, या यहीं गिरफ्तार किया जा सकता है..."

...जब पहली दफा सत्ता से बेदखल करके पाकिस्तान से निकाले गए थे नवाज

मोहम्मद नवाज शरीफ तीन बार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री रह चुके हैं. सबसे पहले एक नवंबर 1990 को पाक के 12 वें प्रधानमंत्री बने थे और इस पद पर 18 जुलाई 1993 तक रहे. इसके बाद 14 वें पीएम के रूप में उनका कार्यकाल 17 फरवरी 1997 से 12 अक्टूबर 1999 तक रहा. शरीफ तीसरी बार 5 जून 2013 को पाक के 27 वें प्रधानमंत्री बने. साल 2016 में पनामा पेपर लीक मामले में शरीफ का नाम आने के बाद 2017 में सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें पीएम के पद के लिए अयोग्य करार दिया और 28 जुलाई 2017 को उन्हें प्रधानमंत्री के पद से हटाना पड़ा. नवाज़ शरीफ को साल 2000 में तख्तापलट के बाद तत्कालीन सैन्य शासक मुशर्रफ़ ने निर्वासित कर दिया था.

टिप्पणियां
VIDEO: NDTV EXCLUSIVE : गिरफ्तारी से पहले बोले नवाज, ‘पाकिस्तान के लिए दे रहा हूं कुर्बानी’

नवाज शरीफ का जन्म लाहौर में 25 दिसम्बर 1949 को हुआ था. वे सन 1976 में पाकिस्तान मुस्लिम लीग में शामिल हुए थे. वे साल 1980 में पाक के पंजाब प्रांत के वित्त मंत्री बन गए. सन 1981 में उन्हें पंजाब सलाहकार बोर्ड में शामिल हो किया गया. इसके बाद उनकी तत्कालीन सैन्य शासक जनरल जिया-उल-हक से नजदीकी बढ़ गई. इसी नजदीकी के नतीजे में उन्हें 1985 में पंजाब का मुख्यमंत्री बना दिया गया.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement