पीएम मोदी ने यूएसए के स्वतंत्रता दिवस पर बधाई दी, ट्रंप ने कहा- भारत से प्यार करता है अमेरिका

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा- मैं अमेरिका के 244 वें स्वतंत्रता दिवस पर डोनाल्ड ट्रंप और यूएसए के लोगों को बधाई देता हूं

पीएम मोदी ने यूएसए के स्वतंत्रता दिवस पर बधाई दी, ट्रंप ने कहा- भारत से प्यार करता है अमेरिका

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और पीएम नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो).

नई दिल्ली:

अमेरिका के स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) और वहां के लोगों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने बधाई दी. इस पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गर्मजोशी के साथ जवाब दिया. उन्होंने ट्वीट किया- ''धन्यवाद मेरे दोस्त. अमेरिका भारत से प्यार करता है.'' 

पीएम नरेंद्र मोदी ने अमेरिका के स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को शुभकामनाएं दीं. उन्होंने ट्वीट किया कि ''मैं अमेरिका के 244 वें स्वतंत्रता दिवस पर डोनाल्ड ट्रंप और यूएसए के लोगों को बधाई देता हूं. दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्रों के रूप में हम स्वतंत्रता और मानव उद्यम को महत्व देते हुए इस दिन को मनाते हैं.'' 

पीएम मोदी के ट्वीट के रिप्लाई में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने लिखा ''धन्यवाद मेरे दोस्त. अमेरिका भारत से प्यार करता है.''   


गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच जारी तनाव के दौरान अमेरिका भारत के पक्ष में खुलकर सामने आ गया है. अमेरिका ने गुरुवार को चीन को खरी-खोटी सुनाई. अमेरिका ने कहा है कि चीन भारत के खिलाफ लगातार आक्रामक है. व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव केली मैक्नेनी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के हवाले से कहा कि 'इलाके में भारत सहित दूसरे देशों के प्रति चीन का आक्रामक रवैया उसकी कम्युनिस्ट पार्टी वाली सत्ता का असली चेहरा है.' प्रेस सचिव ने कहा कि पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के बीच चल रहे सीमा विवाद और तनाव के बीच अमेरिका स्थिति पर करीबी नजर रख रहा है. उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिका चाहता है कि इसका कोई शांतिपूर्ण समाधान निकले.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मैक्नेनी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान इस संबंध में सवाल पूछे जाने पर कहा, 'भारत-चीन संबंध में हम स्थिति पर नजर रख रहे हैं. राष्ट्रपति की नजर भी इस पर है और उन्होंने कहा है कि भारत-चीन सीमा पर चीन का जो रुख है, वो चीन के बड़े स्तर पर अपनाए गए आक्रामक रुख का हिस्सा है. चीन की यह हरकतें चीनी कम्युनिस्ट पार्टी का असली चेहरा हैं.'