Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

PNB Scam: लंदन की B कैटेगरी की जेल में रहेगा नीरव मोदी, मिलेगी स्पेशल सेल, दाऊद का गुर्गा भी है वहां कैद

नीरव मोदी (Nirav Modi) को लंदन पुलिस ने गिरफ्तार कर बुधवार को अदालत में पेश किया. इसके बाद लंदन की एक अदालत (London Court) ने उसे 29 मार्च तक हिरासत भेज दिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
PNB Scam: लंदन की B कैटेगरी की जेल में रहेगा नीरव मोदी, मिलेगी स्पेशल सेल, दाऊद का गुर्गा भी है वहां कैद

अगली सुनवाई तक नीरव मोदी जेल में रहेगा.

लंदन:

PNB Scam: पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के 2 अरब डॉलर कर्ज की धोखाधड़ी मामले में मुख्य अभियुक्त और भगोड़े आर्थिक अपराधी नीरव मोदी (Nirav Modi) को ब्रिटेन में गिरफ्तार कर लिया गया. इसके बाद लंदन की एक अदालत (London Court)ने उसे 29 मार्च तक हिरासत में भेज दिया. बताया जा रहा है कि नीरव मोदी (Nirav Modi) को जेल की स्पेशल सेल में रखा जाएगा. वह पश्चिमी यूरोप की सबसे बड़ी जेल में से एक मेजेस्टी की वैंड्सवर्थ जेल में अगली सुनवाई तक रहेगा. दक्षिण लंदन में स्थित जेल में मोदी के साथ कथित तौर पर दाऊद इब्राहिम का गुर्गा पाकिस्तानी मूल का जाबिर मोती भी शामिल है, जो कि अमेरिका के लिए प्रत्यर्पण की प्रक्रिया से गुजर रहा है.

वैंड्सवर्थ बी कैटेगरी की जेल है, जहां ऐसे कैदियों को रखा जाता है कि जिनकी सुरक्षा की जोखिम कम होती है. 1851 में बनाई गई इस जेल में अभी 1628 कैदी हैं. नीरव मोदी को मार्च 29 तक होने वाली अगली सुनवाई तक अलग सेल में रखा जाएगा.


नीरव मोदी के प्रत्यर्पण में कितना लगेगा समय, जानिए क्या कहते हैं ब्रिटिश कानूनविद

बता दें, नीरव मोदी (Nirav Modi) की गिरफ्तारी को भारत लाने के भारतीय जांच एजेंसियों के प्रयासों की दिशा में एक बड़ी कामयाबी के रूप में देख जा रहा है. लंदन पुलिस ने हीरा व्यापारी नीरव मोदी को गिरफ्तार कर बुधवार को अदालत में पेश किया. अदालत ने उसकी जमानत की अर्जी नामंजूर करते हुए कहा कि उसके लिए यह मानने का ‘‘पर्याप्त आधार है'' कि जमानत पर छूटने के बाद यह अभियुक्त फिर आत्मसमर्पण नहीं करेगा. प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लौंड्रिंग के एक मामले में नीरव मोदी के प्रत्यर्पण के लिये लंदन की एक अदालत में अपील की थी. अदालत ने अपील पर सुनवाई करते हुए नीरव मोदी के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी किया था.

PNB Scam: भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी लंदन में गिरफ्तार, नहीं मिली जमानत, 29 को अगली सुनवाई

स्कॉटलैंड यार्ड (लंदन पुलिस) ने एक बयान में कहा, ‘नीरव मोदी (Nirav Modi) को भारतीय एजेंसियों की तरफ से 19 मार्च (मंगलवार) को हॉलबार्न नामक स्थान पर गिरफ्तार किया गया है.'' नीरव मोदी ने जिला न्यायाधीश मारी मैलॉन की अदालत में खुद को भारतीय अधिकारियों के हवाले किए जाने का विरोध किया. अदालत ने सुनवाई के बाद उसकी जमानत की अर्जी खारिज कर दी. अदालत ने उसे 29 मार्च तक हिरासत में रखे जाने की अनुमति दी है. 

नीरव मोदी की 173 पेंटिंग सहित 11 लग्जरी गाड़ियों को बेचेगा प्रवर्तन निदेशालय, जानिये कब होगी नीलामी

जज ने कहा कि वह नीरव मोदी की जमानत की अर्जी मंजूर किए जाने के पक्ष में नहीं है क्यों कि मामला ‘बड़ी मोटी राशि का है' और इसे देखते हुए इस बात की बड़ी संभावना है कि अभियुक्त एक बार जमानत पर छूटने के बाद फिर अदालत में आत्मसमर्पण नहीं करना चाहेगा. जज ने कहा, ‘यह मानने का यहां पर्यापत आधार है कि जमानत पर छूटने के बाद आप आत्मसमर्पण नहीं करेंगे.' 

नीरव मोदी अदालत में सफेद कमीज और पतलून पहन कर आया था. वह बुझा बुझा दिख रहा था और वह केवल दो बार ही - प्रथम बार अपने नाम की पुष्टि करने को तथा दूसरी बार भारत को सौंपे जाने के बारे में अपना विरोध औपचारिक तौर पर प्रकट करने के लिए, मुंह खोला. अदालत में भारतीय जांच एजेंसियों का पक्ष ब्रिटेन की अभियोजन सेवा ‘क्राउन प्राक्जेक्यूशन सर्विस' ने किया और अदालत से कहा कि नीरव को भारत में दो अरब डालर (14,000 करोड़ रुपये) की धोखा धड़ी और मनी लांडरिंग के मामले में तलाश किया जा रहा है. ब्रिटेन के कानून के तहत धोखा धड़ी के षडयंत्र में उसे सात साल तक की सजा हो सकती है. इसी तरह अपराध को छुपाने के षडयंत्र की सजा सात से 10 साल तक की है. 

लंदन में गिरफ्तार हुआ नीरव मोदी तो Twitter पर आई Memes की बाढ़, यूं आए रिएक्शन

अभियोजन पक्ष के वकील जोनाथन स्वैन ने जानत की अर्जी का विरोध किया और कहा कि उनका मामना है कि जमानत मंजूर होने के बाद वह अदाल में आत्मसमर्पण के लिए वापस नहीं आएगा. नीरव की ओर से बैरिस्टर जार्ज हेपबर्न-स्काट और वकील आनंद दुबे खड़े हुए थे. भारत से भागे बड़े आर्थिक अभियुक्त विजय माल्या ने भी अपने प्रत्यर्पण मामले में इसी कानूनी विशेषज्ञ को खड़ा किया था. नीरव मोदी की ओर से 5,00,000 पौंड के बांड और जमानत की कठोर शर्तों के अनुपालन का वादा किया गया था.

ब्रिटेन ने नीरव मोदी को गिरफ्तार करने के लिए दस्तावेज मांगे, भारत ने नहीं दिया जवाब : सूत्र

नीरव मोदी को जहां गिरफ्तार किया गया उससे इस बात के संकेत मिलते हैं कि नीरव मोदी वेस्ट एंड के सेंटर पाइंट के उसी आलीशान अपार्टमेंट में रह रहा था जहां उसके होने की आशंका व्यक्त की जा रही थी. ऐसा लग रहा है कि उसे प्रत्यर्पण वारंट पर गिरफ्तार किया गया है.

(इनपुट- पीटीआई)

नीरव मोदी की गिरफ्तारी पर शुरू हुआ सियासी वार-पलटवार, कांग्रेस ने कहा चुनाव की वजह से हुआ ऐसा

टिप्पणियां

VIDEO- नीरव मोदी लंदन में गिरफ्तार, 29 मार्च तक भेजा गया जेल

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... Bhojpuri Video Song: पवन सिंह के रोमांटिक गाने का यूट्यूब पर तहलका, 1 करोड़ से ज्यादा बार देखा गया Video

Advertisement