NDTV Khabar

पोलैंड ने द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान हुई क्षति के लिए जर्मनी से मांगा मुआवजा

सत्तारूढ़ लॉ एंड जस्टिस पार्टी के नेता जारोस्लाव काकजिन्सकी का तर्क है कि नाजियों ने 1939 में सबसे पहले पोलैंड पर हमला किया था और जिससे इस देश को द्वितीय विश्वयुद्ध में भारी क्षति पहुंची थी.

76 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पोलैंड ने द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान हुई क्षति के लिए जर्मनी से मांगा मुआवजा

फाइल फोटो

नई दिल्ली: पोलैंड ने द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान हुई क्षति के लिए जर्मनी से मुआवजा मांगा है. पोलैंड के एक संसदीय आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान नाजियों द्वारा किए गए कब्जे की वजह से देश में 50 लाख लोगों की मौत हुई और करीब 54 अरब डॉलर का नुकसान हुआ. पोलैंड की मौजूदा सरकार द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान देश को नाजियों द्वारा पहुंचाई गई क्षति की पूर्ति जर्मनी से चाहती है और आयोग की कल की यह घोषणा उसी का हिस्सा है. 

जापान के वार से तबाह हुआ था अमेरिकी युद्धपोत, 70 साल बाद मिला मलबा

रिपोर्ट में बताया गया है कि यह प्रारंभिक आंकड़े हैं. सत्तारूढ़ लॉ एंड जस्टिस पार्टी के नेता जारोस्लाव काकजिन्सकी का तर्क है कि नाजियों ने 1939 में सबसे पहले पोलैंड पर हमला किया था और जिससे इस देश को द्वितीय विश्वयुद्ध में भारी क्षति पहुंची थी. द्वितीय विश्वयुद्ध खत्म होने के बाद पोलैंड पर दशकों तक सोवियत रूस का प्रभुत्व था इसलिए यह देश स्वतंत्ररूप से जर्मनी से क्षतिपूर्ति राशि नहीं मांग पाया था. हालांकि जर्मनी ने पोलैंड में नाजियों के अत्याचार के बाद जिंदा बचे लोगों को मुआवजा दिया था.

ग्रीस में द्वितीय विश्वयुद्ध काल के 250 किलो वजनी बम को निष्क्रिय करने के लिए शहर से हटाए गए 70,000 लोग

टिप्पणियां
सालों पहले बिछड़ीं भारतीय-चीनी बहनों को सोशल मीडिया ने मिलाया​
 

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement