मौत से पहले पुलिस अधिकारी का भावुक फेसबुक पोस्ट, 'दिलों में नफरत मत पैदा होने दो'

मौत से पहले पुलिस अधिकारी का भावुक फेसबुक पोस्ट, 'दिलों में नफरत मत पैदा होने दो'

खास बातें

  • बैटन रूज में हुई गोलीबारी में हुई थी पुलिस अधिकारी की मौत।
  • फेसबुक पोस्ट में अधिकारी ने खुद को बताया भावनात्मक रूप से थका हुआ।
  • अधिकारी पिछले 10 सोलों से पुलिस विभाग में सेवाएं दे रहे थे।
बैटन रूज (अमेरिका):

बैटन रूज के एक पुलिस अधिकारी ने अपनी मौत से कुछ दिन पहले फेसबुक पर एक भावुक संदेश लिखा था और कहा था कि वह "शारीरिक और भावनात्मक" रूप से थक चुका है। उसने लिखा था कि अश्वेत होते हुए एक पुलिस अधिकारी होना बेहद मुश्किल होता है। इस पुलिस अधिकारी की रविवार को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

मॉन्ट्रेल जैक्सन ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा था, ‘‘मैं ईश्वर की कसम खाकर कहता हूं कि इस शहर से मुझे प्रेम है, लेकिन मैं सोचता हूं कि क्या यह शहर भी मुझे पसंद करता है।’’ यह अधिकारी दस साल से पुलिस बल में काम कर रहा था ।

--- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- ---
अमेरिका के लुसियाना में तीन पुलिस अधिकारियों की गोली मारकर हत्या, बंदूकधारी भी मारा गया
--- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- --- ---

जैक्सन (32) के दोस्त और परिवार के सदस्य उसकी मौत का शोक मना रहे हैं। संबंधियों का कहना है कि वह सभ्य और अच्छा इंसान था। रविवार सुबह एक बंदूकधारी ने उसकी और दो अन्य पुलिस अधिकारियों की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बैटन रूज पुलिस विभाग में सारजंट डॉन कोप्पोला जूनियर ने मारे गए एक और पुलिस अधिकारी की पहचान 41 वर्षीय मैथ्यू गेराल्ड के रूप में की है। उसे पुलिस विभाग में काम करते हुए एक साल भी पूरा नहीं हुआ था। ईस्ट बैटन रूज पेरिश शेरिफ के कार्यालय की प्रवक्ता केसी रेबॉर्न हिक्स ने बताया कि तीसरा अधिकारी 45 वर्षीय ब्राड गाराफोला था जो गत 24 साल से इस विभाग में काम कर रहा था।

 

फेसबुक पोस्ट में जैक्सन ने लिखा था कि वर्दी में वे लोगों को भयानक लगते हैं लेकिन सामान्य कपड़ों में लोग उन्हें खतरा मानते हैं। उसने लिखा, ‘‘छोटे से जीवन में मैंने बहुत कुछ अनुभव किया है लेकिन बीते तीन दिनों ने मुझे गहराई तक हिलाकर रख दिया है।’’ यह संदेश आठ जुलाई को बैटन रूज में पुलिस द्वारा एक अश्वेत की हत्या के ठीक तीन दिन बाद लिखा गया था। यह घटना देश में बेहद तनावपूर्ण हफ्ते की शुरूआत थी। देश का इतिहास नस्ली भेदभाव से भरा हुआ है।

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)