NDTV Khabar

ट्रंप के शारीरिक संबंधों की कहानी, पोर्न एक्ट्रेस की जुबानी, बोलीं- ऐसे आईं नजदीकियां

एडल्ट फिल्मों की एक पूर्व अभिनेत्री स्टेफानी क्लिफोर्ड ने यह दावा करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ एक याचिका दायर की है कि उनके वकील ने उनसे ट्रंप के साथ अपने कथित शारीरिक संबंधों को सार्वजनिक नहीं करने के लिए 2006 में उन्हें एक दस्तावेज पर दस्तखत करने के लिए बाध्य किया था.

690 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
ट्रंप के शारीरिक संबंधों की कहानी, पोर्न एक्ट्रेस की जुबानी, बोलीं- ऐसे आईं नजदीकियां

पॉर्न अदाकारा ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर ठोका मुकदमा.

खास बातें

  1. पॉर्न अदाकारा ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर ठोका मुकदमा.
  2. नजदीकी संबंधों की शुरुआत 2006 की गर्मियों में हुई थी.
  3. उन्होंने बताया- ये संबंध 2007 तक जारी रहे.
नई दिल्ली: एडल्ट फिल्मों की एक पूर्व अभिनेत्री स्टेफानी क्लिफोर्ड ने यह दावा करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ एक याचिका दायर की है कि उनके वकील ने उनसे ट्रंप के साथ अपने कथित शारीरिक संबंधों को सार्वजनिक नहीं करने के लिए 2006 में उन्हें एक दस्तावेज पर दस्तखत करने के लिए बाध्य किया था. ट्रंप तब राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन उम्मीदवार थे. ‘स्टॉर्मी डैनिएल्स’ के नाम से मशहूर स्टेफानी ने यह याचिका कल कैलीफोर्निया की प्रांतीय अदालत में दायर की.

डोनाल्ड ट्रंप के टॉप आर्थिक सलाहकार गैरी कॉन ने इस्तीफा दिया

कुल 28 पन्नों की याचिका में आरोप लगाया गया है कि ट्रंप के निजी वकील माइकल कोहेन ने उन्हें एक लाख 30 हजार डॉलर दिए थे कि वह ट्रंप के साथ अपने यौन संबंधों को सार्वजनिक नहीं करें. ट्रंप ने इन आरोपों से इनकार किया है. याचिका में कहा गया, ‘‘ ट्रंप ने समझौते पर हस्ताक्षर नहीं किए, उसके बावजूद कोहेन ने एक लाख 30 हजार डॉलर क्लिफोर्ड के वकील के खाते में डाल दिए. ऐसा उन्होंने कोई वैध समझौता नहीं होने के बावजूद किया. इसलिए ऐसा कोई भी लिखित समझौता नहीं है जो क्लिफोर्ड को ट्रंप के बारे में खुलासा करने से रोकता हो. ’’ 

टिप्पणियां
व्हाइट हाउस के बाहर व्यक्ति ने खुद को गोली मारी, सीक्रेट सर्विस ने दी जानकारी

इसमें बताया गया है कि क्लिफोर्ड और ट्रंप के बीच नजदीकी संबंधों की शुरुआत लेक तहोए में वर्ष 2006 की गर्मियों में हुई थी. ये संबंध 2007 तक जारी रहे. इस शिकायत को क्लिफोर्ड के वकील माइकल एवेनाट्टी ने सार्वजनिक किया है. इसमें कहा गया है कि 28 अक्तूबर 2016 को क्लिफोर्ड और कोहेन ने एक समझौते पर हस्ताक्षर किए लेकिन इस पर ट्रंप के हस्ताक्षर नहीं थे. इसमें कहा गया है ,‘‘ स्पष्ट तौर पर कहें तो क्लिफोर्ड का मुंह बंद रखने के लिए डराने-धमकाने के प्रयास लगातार जारी हैं ताकि ट्रंप का बचाव किया जा सके.’’ 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement