नसीरुद्दीन के बयान पर पाक पीएम इमरान बोले- पीएम मोदी को दिखाएंगे कि अल्पसंख्यकों से कैसे व्यवहार करते हैं

बॉलीवुड एक्टर नसीरुद्दीन शाह ने हिंदुस्तान में भीड़ द्वारा की जाने वाली हिंसा पर जो बयान दिया था उस बयान की आंच पाकिस्तान तक पहुंच चुकी है.

नसीरुद्दीन के बयान पर पाक पीएम इमरान बोले- पीएम मोदी को दिखाएंगे कि अल्पसंख्यकों से कैसे व्यवहार करते हैं

इमरान खान (फाइल फोटो)

खास बातें

  • नसीरुद्दीन शाह के बयान विवाद में पाकिस्तान ने लगाई छलांग
  • पाक पीएम इमरान ने इस मुद्दे पर दिया बयान
  • इसलिए तो जिन्ना ने बनाया था अलग देश- इमरान खान
नई दिल्ली :

बॉलीवुड एक्टर नसीरुद्दीन शाह ने हिंदुस्तान में भीड़ द्वारा की जाने वाली हिंसा पर जो बयान दिया था उस बयान की आंच पाकिस्तान तक पहुंच चुकी है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने इस बयान पर टिप्पणी करते हुए कहा कि वह भारत की सत्ता पर काबिज मोदी सरकार को ''दिखाएंगे'' कि अल्पसंख्यकों के साथ कैसे व्यवहार करते हैं. उन्होंने नसीरुद्दीन के बयान का समर्थन करते हुए कहा कि पाकिस्तान के निर्माता जिन्ना को पहले से ही पता था कि शायद इसीलिए उन्होंने मुसलमानों के लिए अलग देश बनाने की बात कही थी. 

नसीरुद्दीन शाह बोले- गाय की मौत को पुलिस अधिकारी की हत्या से ज्यादा तवज्जो दी गई, देखें वीडियो

नसीरुद्दीन शाह भारत में भीड़ द्वारा पीट पीटकर मार डालने के मामलों को लेकर अपनी टिप्पणी के कारण विवादों में आ गए हैं. खान ने पंजाब सरकार की 100 दिन की उपलब्धियों को रेखांकित करने के लिए लाहौर में आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए इस बात पर जोर दिया कि उनकी सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए कदम उठा रही है कि पाकिस्तान में धार्मिक अल्पसंख्यकों को उनके उचित अधिकार मिले. उन्होंने कहा कि यह देश के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना का भी दृष्टिकोण था. 

Newsbeep

बलात्कार के मामलों पर बोले नसीरुद्दीन शाह, दोषियों के बजाए लड़कियों को शर्मिंदगी उठानी पड़ती है...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


खान ने कहा कि उनकी सरकार यह सुनिश्वित करेगी कि अल्पसंख्यक सुरक्षित, संरक्षित महसूस करें और उन्हें ‘नये पाकिस्तान' में समान अधिकार हों. उन्होंने शाह के बयान की ओर इशारा करते हुए कहा,हम मोदी सरकार को दिखाएंगे कि अल्पसंख्यकों के साथ कैसे व्यवहार करते हैं...भारत में लोग कह रहे हैं कि अल्पसंख्यकों के साथ समान नागरिकों की तरह व्यवहार नहीं हो रहा है. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने कहा कि यदि कमजोर को न्याय नहीं दिया गया तो इससे विद्रोह ही उत्पन्न होगा। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा, पूर्वी पाकिस्तान के लोगों को उनके अधिकार नहीं दिये गए जो कि बांग्लादेश निर्माण के पीछे मुख्य कारण था. (इनपुट भाषा)