NDTV Khabar

Facebook की मुश्किलें बढ़ीं, कारोबार पर दिखने लगा असर, शेयर में भी गिरावट

सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक की मुसीबतें इसके उपयोगकर्ताओं की जानकारियों के दुरुपयोग का मामला सामने आने के बाद कम होने का नाम नहीं ले रही हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Facebook की मुश्किलें बढ़ीं, कारोबार पर दिखने लगा असर, शेयर में भी गिरावट

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. Facebook की मुश्किलें बढ़ीं
  2. कारोबार पर दिखने लगा असर
  3. शेयर में भी गिरावट दर्ज
न्यूयॉर्क: सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक की मुसीबतें इसके उपयोगकर्ताओं की जानकारियों के दुरुपयोग का मामला सामने आने के बाद कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. विवाद सामने आने के बाद इस सप्ताह कंपनी के शेयर 14 प्रतिशत गिरे हैं. इस बीच मोजिला, कॉमर्जबैंक, टेस्ला, स्पेसएक्स समेत कई बड़ी कंपनियों ने भी फेसबुक से फिलहाल किनारा कर लिया है. टेस्ला और स्पेसएक्स जैसी कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारी( सीईओ) एलन मस्क ने ट्विटर पर तीखी बहस के बाद अपनी कंपनियों का फेसबुक पेज बंद कर दिया है. उन्होंने ट्विटर पर लोगों से बहस के दौरान कहा था कि वह अपनी कंपनियों का फेसबुक पेज बंद कर देंगे. इसके बाद फेसबुक पर स्पेसएक्स और टेस्ला के पेज दिख नहीं रहे हैं. हालांकि दोनों कंपनियों ने इस बाबत पूछे जाने पर कोई टिप्पणी नहीं की है. 

यह भी पढ़ें: डोनाल्ड ट्रंप के पूर्व मुख्य सलाहकार ने लगाए फेसबुक पर सनसनीखेज आरोप, जानिए क्या कहा

फायरफॉक्स वेब ब्राउजर बनाने वाली कंपनी मोजिला ने बुधवार को ब्लॉग पर लिखा, ‘‘ हम फिलहाल फेसबुक से दूरी बना रहे हैं. हम फेसबुक को विज्ञापन देना अभी रोक रहे हैं और हमारे फेसबुक पेज पर अभी कुछ भी पोस्ट नहीं किया जाएगा.’’ मोजिला ने अभी अपना फेसबुक पेज हटाया नहीं है. उसने कहा है कि यदि फेसबुक उपयोगकर्ताओं की जानकारियों को सुरक्षित बनाने और गोपनियता सेटिंग को सुधारने की कोशिश करती है तो वह वापस फेसबुक पर लौटने के बारे में विचार करेगी. जर्मनी के कॉमर्जबैंक ने भी कहा है कि वह फिलहाल फेसबुक विज्ञापन रोक रहा है और जानकारियों की सुरक्षा का मूल्यांकन कर रहा है. स्पीकर समेत अन्य इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद बनाने वाली कंपनी सोनोस ने भी फेसबुक समेत इंस्टाग्राम, गूगल और ट्विटर पर अपने विज्ञापन को एक सप्ताह के लिए रोक दिया है. 

यह भी पढ़ें: फेसबुक डाटा लीक मामला: कैंब्रिज एनालिटिका को भारत सरकार का नोटिस, 31 मार्च तक 6 सवालों के मांगे जवाब

टिप्पणियां
हालांकि, फेसबुक ने कारोबार पर असर की आशंकाओं को खारिज किया है. उसने जारी बयान में कहा, ‘‘ हमने इस सप्ताह जिन कंपनियों से बातें की हैं उनमें से अधिकांश ने लोगों से जुड़ी जानकारियों की सुरक्षा के लिए हमारे द्वारा उठाये गये कदमों से खुशी जाहिर की है. उन्हें यकीन है कि हम इन चुनौतियों पर बेहतर प्रतिक्रिया देंगे और अच्छे भागीदार बनेंगे.’’ इस बीच, लंदन से प्राप्त एएफपी की खबरों के अनुसार ब्रिटिश नियामकों ने विवाद में शामिल कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका के दफ्तरों की तलाशी शुरू कर दी है. सूचना आयुक्त एलिजाबेथ डेनहम के कार्यालय के करीब 18 अधिकारियों ने कैंब्रिज एनालिटिका के लंदन मुख्यालय की तलाशी ली. डेनहम के कार्यालय ने ट्विटर पर बताया कि उच्च न्यायालय ने कंपनी के कार्यालय पर छापेमारी की मंजूरी दे दी है. 

VIDEO: क्या था कैंब्रिज एनालिटिका का खेल?
न्यायालय के अनुसार, न्यायमूर्ति एंथनी जेम्स लियोनार्ड के आदेश की विस्तृत जानकारी मंगलवार को जारी की जाएगी. उल्लेखनीय है कि कैंब्रिज एनालिटिका पर 2016 के अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव में फेसबुक के करीब पांच करोड़उपयोगकर्ताओं की जानकारियों के दुरुपयोग का आरोप है.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement