अमेरिका में प्रदर्शनकारियों ने फिर अश्वेत लोगों की मौत का मामला उठाया

कैलिफोर्निया में एक काले व्यक्ति का शव पेड़ से लटकता पाए जाने की घटना के बाद नए सिरे से नस्लवाद-विरोधी प्रदर्शन शुरू हो गए

अमेरिका में प्रदर्शनकारियों ने फिर अश्वेत लोगों की मौत का मामला उठाया

प्रतीकात्मक फोटो.

वाशिंगटन:

अटलांटा में श्वेत पुलिस अधिकारी की गोली लगने से एक काले व्यक्ति की मौत होने और कैलिफोर्निया में सिटी हॉल के बाहर एक अन्य काले व्यक्ति का शव पेड़ से लटकता पाए जाने की घटनाएं सामने आने के बाद सप्ताहांत में नए सिरे से नस्लवाद-विरोधी प्रदर्शन शुरू हो गए हैं. रविवार को अटलांटा पुलिस ने घोषणा की कि 27 वर्षीय काले व्यक्ति रेशार्ड ब्रूक्स की शुक्रवार रात को पुलिस की गोली लगने से मौत हो जाने के बाद आरोपी अधिकारी गेरेट रोल्फे को बर्खास्त कर दिया गया जबकि अन्य अधिकारी डेविन ब्रोस्नैन को प्रशासनिक ड्यूटी में तैनात किया गया है. 

अटलांटा की मेयर कीशा लांस बॉट्म्स ने शनिवार को पुलिस प्रमुख एरिका शील्ड्स का इस्तीफा स्वीकार करने की घोषणा की. बॉटम्स ने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि इस घातक बल प्रयोग को सही ठहराया जा सकता है.''

करीब 150 प्रदर्शनकारियों ने वेंडी रेस्तरां के बाहर मार्च निकाला, जहां ब्रूक्स को गोली मारी गई थी. अटलांटा में यह घटना ऐसे समय में हुई है, जब मिनियापोलिस में अफ्रीकी-अमेरिकी जॉर्ज फ्लॉयड की 25 मई को पुलिस हिरासत में मौत के बाद से अमेरिका में पुलिस बर्बरता और नस्ली भेदभाव के खिलाफ प्रदर्शन हुए हैं. शुक्रवार की इस घटना के बाद प्रदर्शनकारियों ने वेंडी रेस्तरां में आगजनी की.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

जॉर्जिया जांच ब्यूरो (जीबीआई) के मुताबिक, अटलांटा पुलिस को शिकायत मिली थी कि कार में सो रहे एक व्यक्ति ने रेस्तरां के बाहर सड़क बाधित कर रखी है, जिसके बाद पुलिस वहां पहुंची थी और ब्रूक्स एवं पुलिस के बीच टकराव हुआ. वहीं, कैलिफोर्निया के पामडेल में शनिवार को सैकड़ों लोगों ने 24 वर्षीय काले व्यक्ति रॉबर्ट फुलर की मौत के मामले में जांच की मांग को लेकर रैली निकाली. सिटी हॉल के पास बुधवार को एक पेड़ से फुलर का शव लटकता पाया गया था. प्रदर्शनकारियों ने जहां फुलर का शव मिला था, वहां से लेकर शेरिफ के स्टेशन तक रैली निकाली. इस दौरान, प्रदर्शनकारियों ने ''जस्टिस फोर रॉबर्ट फुलर'' की तख्तियां हाथों में ली हुई थीं.

उधर, जर्मनी के बर्लिन में भी रविवार को हजारों लोगों ने मानव श्रृंखला बनाकर नस्लवाद, भेदभाव और सामाजिक असमानता के खिलाफ संदेश दिया.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)