NDTV Khabar

कतर का अड़ियल रुख बरकरार, विदेश नीति को किसी और को सौंपने से इनकार

कतर ने खाड़ी संकट के समाधान के लिए विदेश नीति को किसी और के हवाले करने के सऊदी अरब के अगुवाई वाले देशों की मांग के सामने झुकने से इनकार कर दिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कतर का अड़ियल रुख बरकरार, विदेश नीति को किसी और को सौंपने से इनकार

जून 2017 में, कई देशों ने सऊदी अरब के नेतृत्व में कतर से अपने राजनयिक संबंध समाप्त कर दिए थे.

खास बातें

  1. सऊदी अरब के नेतृत्व में कई देशों ने कतर से संबंध समाप्त कर दिए
  2. खाड़ी सहयोग परिषद एक क्षेत्रीय आर्थिक और राजनीतिक संघ है
  3. कतर भी एक संयुक्त राज्य अमेरिका सहयोगी देशों में से एक है
दोहा:

खाड़ी देशों में आए राजनयिक संकट का हल अभी दिखाई नहीं दे रहा है.कतर का अडीयल रूख बरकार है. इसी क्रम में कतर ने खाड़ी संकट के समाधान के लिए विदेश नीति को किसी और के हवाले करने के सऊदी अरब के अगुवाई वाले देशों की मांग के सामने झुकने से इनकार कर दिया है.

शेख सैफ बिन अहमद अल-थानी ने संकट के समय दोहा के विरोधियों सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, बहरीन और मिश्र पर कतर के आंतरिक मामलों में दखल देने का आरोप लगाया है. थानी को मंत्री का दर्जा प्राप्त है. उन्होंने कहा कि इस संकट के पीछे निश्चित तौर पर कतर की संप्रभुता और स्वतंत्रता है. यह कतर की विदेश नीति को किसी और के हवाले करने जैसा है ताकि कतर में निर्णय नहीं किए जाएं और यह कभी स्वीकार्य नहीं होगा.

टिप्पणियां

बता दें कि आतंकवाद को पनाह देने के आरोप में कतर खाड़ी सहयोग परिषद के विरोध का सामना कर रहा है. कतर से खाड़ी के कई देशों ने अपने संबंध भी समाप्त कर दिए हैं. जून 2017 में, कई देशों ने सऊदी अरब के नेतृत्व में कतर से अपने राजनयिक संबंध समाप्त कर दिए थे. 


(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement