असली फैसला अदालत से नहीं, वोटरों से आया है : नवाज शरीफ

लाहौर की एनए-120 सीट पर हुए हालिया उप चुनाव में शरीफ की पत्नी कुलसुम नवाज निर्वाचित हुई हैं.

असली फैसला अदालत से नहीं, वोटरों से आया है : नवाज शरीफ

नवाज शरीफ की फाइल तस्वीर

लाहौर:

पाकिस्तान की न्यायपालिका पर परोक्ष रूप से तंज कसते हुए पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने बुधवार को कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें भले ही अयोग्य ठहरा दिया हो, लेकिन संसदीय उप चुनाव में उनकी पत्नी को चुनकर जनता ने असली फैसला दिया है. बीते 28 जुलाई को पाकिस्तान की शीर्ष अदालत ने पनामा पेपर्स मामले में शरीफ को अयोग्य ठहरा दिया था. लाहौर की एनए-120 सीट पर हुए हालिया उप चुनाव में शरीफ की पत्नी कुलसुम नवाज निर्वाचित हुई हैं.

यह भी पढ़ें : पनामा पेपर मामले में पहली बार जवाबदेही अदालत में पेश हुए नवाज शरीफ

पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) की युवा शाखा के सम्मेलन में नवाज शरीफ ने कहा कि उप चुनाव की यह जीत ‘इतिहास के सुनहरे पन्ने’ में तब्दील हो गई है. उन्होंने कहा, 'आपने सिर्फ नेशनल असेंबली की एक सीट ही नहीं जीती है, बल्कि इंसाफ के कायम रहने में भी मदद भी की है.’’ पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा, 'मैं अब भी समझ नहीं पाता हूं कि मुझे क्यों निकाला गया.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO : क्या नवाज शरीफ का राजनैतिक करियर खत्म?
नवाज शरीफ की पत्नी कुलसुम बीमार हैं और लंदन में उनका इलाज चल रहा है.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)