NDTV Khabar

हार्ट अटैक से बचाएगा मोबाइल एप, समय से पहले दे देगा संकेत, जानें कैसे

शोधकर्ताओं ने एक ऐसा मोबाइल एप विकसित किया है जो हृदयाघात के लिए मुख्य रूप से जिम्मेदार आलिंद फिब्रिलेशन की पहचान कर सकेगा

103 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
हार्ट अटैक से बचाएगा मोबाइल एप, समय से पहले दे देगा संकेत, जानें कैसे

हार्ट अटैक से बचाएगा मोबाइल एप.

खास बातें

  1. हार्ट अटैक से बचाएगा मोबाइल एप.
  2. आलिंद फिब्रिलेशन की पहचान कर सकेगा.
  3. शोध के दौरान 300 मरीजों को शामिल किया गया.
नई दिल्ली: शोधकर्ताओं ने एक ऐसा मोबाइल एप विकसित किया है जो हृदयाघात के लिए मुख्य रूप से जिम्मेदार आलिंद फिब्रिलेशन की पहचान कर सकेगा. हृदय गति का असमान या बहुत तेज गति से धड़कने की क्रिया को आलिंद फिब्रिलेशन कहते हैं जिससे हृदयाघात, हृदय का काम बंद करना और हृदय संबंधित अन्य समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है.

दिल की सर्जरी से गुजरने वाले बच्चों में बहरेपन का खतरा, आईक्यू लेवल भी खराब

हृदयाघात को रोकने के लिए समय पर इसकी पहचान होना बहुत जरूरी है. फिनलैंड में टुर्कू विश्वविद्यालय के प्रोफेसर जुहानी ऐराक्सिनेन ने कहा, "पहली बार सामान्य उपकरण ऐसे नतीजे पर पहुंच पाया है जिससे वह मरीज की चिकित्सा में सहायता प्रदान कर सके." रुक-रुक कर आलिंद फिब्रिलेशन होने के कारण वर्षो से डॉक्टरों को भी इसका पता नहीं चलता था जिस कारण यह खोज और भी महत्वपूर्ण है.

टिप्पणियां
हार्ट अटैक के बाद के खतरे को कम करेगा ये चेकअप, बचाएगा आपकी जान

शोध के दौरान 300 मरीजों को शामिल किया गया जिनमें लगभग आधे लोग आलिंद फिब्रिलेशन से पीड़ित थे. शोधकर्ता स्मार्टफोन की सहायता से रोग की पहचान करने में कामयाब रहे. शोधकर्ताओं के अनुसार इससे लगभग 96 फीसदी तक प्रमाणित परिणाम मिले. शोधकर्ताओं के अनुसार इस एप को कुछ समय तक और विकसित किया जाएगा. यहां तक आने में सात साल लग गए.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement