NDTV Khabar

म्यामां सरकार ने रॉयटर्स पत्रकारों को किया रिहा, रोहिंग्या पर अत्याचारों की रिपोर्टिंग के लिए हुए थे गिरफ्तार

व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने बताया, ‘‘रोहिंग्या के खिलाफ अत्याचारों पर रिपोर्टिंग करने के लिए दिसंबर 2017 से 500 से अधिक दिनों से जेल में बंद कैदियों के बारे में हम खुश हैं कि वे अपने परिवारों से मिल सकेंगे.’’

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
म्यामां सरकार ने रॉयटर्स पत्रकारों को किया रिहा, रोहिंग्या पर अत्याचारों की रिपोर्टिंग के लिए हुए थे गिरफ्तार

अमेरिका ने म्यामां में रॉयटर्स पत्रकारों को रिहा करने का स्वागत किया

वाशिंगटन:

म्यामां सरकार द्वारा माफी के बाद रॉयटर्स के दो पत्रकारों वा लोन और क्याव सोई ओओ की जेल से रिहाई का अमेरिका ने स्वागत किया. व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने बताया, ‘‘रोहिंग्या के खिलाफ अत्याचारों पर रिपोर्टिंग करने के लिए दिसंबर 2017 से 500 से अधिक दिनों से जेल में बंद कैदियों के बारे में हम खुश हैं कि वे अपने परिवारों से मिल सकेंगे.''

लंदन स्थित समाचार एजेंसी के दो पत्रकारों को म्यामां में रोहिंग्या संकटों पर उनकी रिपोर्टिंग के लिए अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया था.

13 साल की बच्ची पर जानबूझकर चढ़ाई गाड़ी, हुआ ऐसा हाल कि लोगों ने दी 4 करोड़ की मदद

दिसंबर 2017 में गिरफ्तारी के कारण वे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियों में आ गये थे और यह नोबेल पुरस्कार विजेता और नागरिक नेता आंग सान सू की के तहत म्यांमार की बिगड़ती प्रेस स्वतंत्रता का संकेत था.


सैंडर्स ने उम्मीद व्यक्त किया कि म्यामां के जेल में बंद अन्य पत्रकारों को भी रिहा किया जाएगा.

पाकिस्तान में चर्च से हो रही है लड़कियों की तस्करी, पादरी ऐसे कर रहे हैं सौदा...

सैंडर्स ने बताया, ‘‘ किसी लोकतंत्र का मूलभूत सिद्धांत प्रेस की स्वतंत्रता, धर्म की स्वतंत्रता और कानून का शासन है. अमेरिका बर्मा में एक स्थिर, समृद्ध और लोकतांत्रिक परिवर्तनकाल को बढ़ावा देना जारी रखेगा.''

उनकी रिहाई का स्वागत करते हुए सीनेटर माक्रो रूबियो ने कहा कि दो पत्रकारों को कथित रूप से रोहिंग्या पर अत्याचारों की रिपोर्टिंग के कारण उनके काम के लिए अन्यायपूर्ण तरीके से जेल में बंद किया गया.

इनपुट - भाषा

टिप्पणियां

VIDEO: पत्रकारों को अवमानना की सज़ा सुनाने पर सवाल



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement