NDTV Khabar

लापता विमान की तलाश : रोबोटिक पनडुब्बी ने शुरू किया पांचवां अभियान

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लापता विमान की तलाश : रोबोटिक पनडुब्बी ने शुरू किया पांचवां अभियान

फाइल चित्र

पर्थ:

लापता मलेशियाई विमान के मलबे की तलाश में लगाई गई रिमोट द्वारा संचालित एक छोटी रोबोटिक पनडुब्बी ने शुक्रवार को पांचवां अभियान शुरू किया।

विमान के मलबे के संबंध में अभी तक कोई जानकारी नहीं मिली है, लेकिन मलेशिया ने तलाश अभियान से पीछे नहीं हटने की बात कही है।

अमेरिकी नौसेना की साइड स्कैन सोनार युक्त मानवरहित पनडुब्बी 'ब्लूफिन 21' हिंद महासागर के उस इलाके में तलाश कर रही है, जहां से चार ध्वनि संकेत मिले थे। अधिकारी इन संकेतों के आधार पर यह मानकर चल रहे हैं कि विमान का ब्लैक बॉक्स इस जगह पर हो सकता है।

पर्थ आधारित संयुक्त एजेंसी समन्वय केंद्र (जेएसीसी) ने तलाश के 42वें दिन एक बयान में कहा, ब्लूफिन-21 एयूवी ने पानी के नीचे तलाश क्षेत्र में रातभर में अपना एक और अभियान पूरा कर लिया और पांचवां अभियान शुरू कर दिया है।

उसने कहा, ब्लूफिन-21 ने अभी तक करीब 110 वर्ग किलोमीटर इलाके की तलाश कर ली है। चौथे अभियान से मिले डेटा के विश्लेषण से कोई उपयोगी जानकारी नहीं मिली है। लापता मलेशिया एयरलाइंस उड़ान एमएच 370 की तलाश में 11 सैन्य विमान और 12 जहाज मदद करेंगे।

बयान में कहा गया है, ऑस्ट्रेलियाई समुद्री सुरक्षा प्राधिकरण ने तीन क्षेत्रों में कुल करीब 51,870 वर्ग किलोमीटर इलाके में खोज की योजना बनाई है। इस बीच, मलेशिया के कार्यवाहक परिवहन मंत्री हिशामुददीन हुसैन ने बताया कि उनका देश विमान की तलाश से पीछे नहीं हटेगा, जबकि ऑस्ट्रेलिया ने घोषणा की है कि यदि एक सप्ताह में विमान के बारे में कुछ पता नहीं चलता है, तो ब्लूफिन-21 पनडुब्बी हिंद महासागर में तलाश रोक सकती है।

हुसैन ने बताया कि ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री टोनी एबट ने प्रधानमंत्री नजीब रजाक को यह संदेश दिया है। मंत्री ने कहा कि तलाश बंद करने का कोई कारण नहीं है, क्योंकि रिमोट द्वारा संचालित एक वाहन को अटलांटिक महासागर के तल पर दुर्घटनाग्रस्त हुई एयर फ्रांस उड़ान 447 के डेटा रिकॉर्डों के बारे में दो वर्ष बाद 2011 में पता चला था।

उन्होंने कहा, मैं एबट से स्पष्ट रूप से सहमत हूं, लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि तलाश एवं बचाव प्रयास रोक दिए जाएंगे। हम (लापता विमान का पता लगाने के लिए) भले ही कोई भी दृष्टिकोण अपनाएं, लेकिन हम तलाश जारी रखेंगे।

हुसैन ने कहा कि तलाश अभियान के संबंध में कोई भी निर्णय लेते समय संयुक्त बातचीत के जरिये जांचकर्ताओं के अंतरराष्ट्रीय विचारों को ध्यान में रखा जाएगा। कुआलालंपुर से बीजिंग जा रहा विमान 8 मार्च को रहस्यमयी तरीके से लापता हो गया था। इस विमान में पांच भारतीय नागरिकों सहित 239 लोग सवार थे।

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement