NDTV Khabar

रोहिंग्या संकट क्षेत्रीय सुरक्षा को खतरे में डाल सकती है : संयुक्त राष्ट्र

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख जीद राद अल-हुसैन ने आज इंडोनेशिया में इस बात को दोहराते हुए कहा कि हो सकता है रोहिंग्या के खिलाफ हिंसक अभियान के दौरान नरसंहार एवं जातीय सफाये की कार्रवाई हुई हो.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रोहिंग्या संकट क्षेत्रीय सुरक्षा को खतरे में डाल सकती है : संयुक्त राष्ट्र

म्यांमार में बढ़ी रोहिंग्या मुसलमानों की समस्या.

जकार्ता: संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार प्रमुख ने कहा है कि रोहिंग्या मुस्लिम अल्पसंख्यकों पर म्यामां का उत्पीड़न क्षेत्रीय संघर्ष को भड़काने में समर्थ है.

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख जीद राद अल-हुसैन ने आज इंडोनेशिया में इस बात को दोहराते हुए कहा कि हो सकता है रोहिंग्या के खिलाफ हिंसक अभियान के दौरान नरसंहार एवं जातीय सफाये की कार्रवाई हुई हो, जिसके चलते करीब 10 लाख लोग पलायन कर पड़ोसी बांग्लादेश चले गये.

टिप्पणियां
अल-हुसैन ने कहा, ‘‘क्षेत्र की सुरक्षा पर संभावित गंभीर प्रभाव के साथ म्यामां को बेहद गंभीर संकट का सामना करना पड़ा. अगर रोहिंग्या संकट से धार्मिक पहचान पर आधारित व्यापक संघर्ष भड़कता है तो आगामी विवाद गंभीर चेतावनी का कारण बन सकते हैं.’’ 

वह इंडोनेशिया की तीन दिवसीय यात्रा पर हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement