NDTV Khabar

रूस ने दो साल के विलंब से चीन को अत्याधुनिक सुखोई विमान की आपूर्ति की

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रूस ने दो साल के विलंब से चीन को अत्याधुनिक सुखोई विमान की आपूर्ति की

सुखोई एसयू-35 लड़ाकू विमान (फाइल फोटो).

बीजिंग:

रूस ने दो साल की देरी के बाद आखिरकार चार सुखोई एसयू-35 लड़ाकू विमानों की आपूर्ति चीन को कर दी है. मॉस्को को डर था कि चीनी सेना द्वारा राडार को चकमा देने में सक्षम जे-20 लड़ाकू विमान विकसित करने के बाद पांचवीं पीढ़ी के उसके विमान का मोल नहीं रहेगा.

एसयू-35 भारतीय वायुसेना द्वारा संचालित एसयू-30 का अत्याधुनिक संस्करण है. पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के एक न्यूज पोर्टल के मुताबिक 25 दिसंबर को विमान की आपूर्ति की गई.

झुहाई एयरशो में चीन के स्टैल्थ (रडार की नजरों से बचकर निकलने में सक्षम) लड़ाकू विमान जे-20 के प्रदर्शन के बाद एसयू-35 की खरीद आसान हो गई.

टिप्पणियां

इसे चीन और रूस के बीच करीबी संबंधों का भी नतीजा बताया जा रहा है. सरकारी ‘पीपुल्स डेली’ के मुताबिक हालांकि जे-20 को सेना में शामिल किए जाने से पहले तक एसयू-35 के निर्यात पर रूस ने अपना रुख नहीं बदला था. रूस का मानना था कि जे-20 के आगाज के साथ एसयू-35 का चीनी बाजार में मोल नहीं रह जाएगा.


(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... पाकिस्तानी एक्ट्रेस माहिरा खान ने पोस्ट की ऐसी फोटो, लिखा- हम नहीं होते एडजस्ट...

Advertisement