NDTV Khabar

रूस: आत्महत्या को बढ़ावा देने वाली 23,000 वेबसाइट की पहचान

रूस के उपभोक्ता सुरक्षा वॉचडॉग रोस्पोट्रेबनादजोर ने बीते पांच सालों में 23,000 से ज्यादा वेबसाइटों की पहचान की है

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रूस: आत्महत्या को बढ़ावा देने वाली 23,000 वेबसाइट की पहचान

प्रतीकात्मक फोटो

मास्को:

रूस के उपभोक्ता सुरक्षा वॉचडॉग रोस्पोट्रेबनादजोर ने बीते पांच सालों में 23,000 से ज्यादा वेबसाइटों की पहचान की है जो आत्महत्या या 'कैसे आत्महत्या की जाए' की सामग्री को बढ़ावा दे रही हैं. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, रोस्पोट्रबनादजोर ने मंगलवार को एक बयान में कहा, एक नवंबर 2012 से रोस्पोट्रबनादजोर ने 25,000 से ज्यादा वेबसाइटों की जांच की है और इनमें से 23,700 के बारे में पाया है कि इनमें आत्महत्या करने के तरीके या आत्महत्या की जानकारी दी गई है.

निगरानी समूह ने कहा है कि उसने किशोरों व बच्चों के बीच ऑनलाइन आत्महत्या को बढ़ावा देने वाले समूहों व समुदायों से जानकारी जुटाने के लिए कानून प्रवर्तन के साथ काम किया है.

पढ़ें: 'ब्लू व्हेल' : सरकार ने किया साफ, गेम अस्वीकार्य, इंटरनेट की सभी कंपनियों को इसे रोकें


रूसी सांख्यिकी एजेंसी रोस्टेट के अनुसार रूस में आत्महत्या एक बड़ा सामाजिक मुद्दा है. सरकार ने इस मुद्दे को हल करने के लिए प्रयासों को तेज किया है. इससे आत्महत्या दर लगातार 14 सालों में कम होकर 2015 में 50 सालों में निचले स्तर पर रही.

VIDEO : खूनी खेल 'ब्लू व्हेल गेम' का भारत में विरोध​

टिप्पणियां

ऑनलाइन गेम ब्लू व्हेल के चलते देश के अलग-अलग हिस्सों में हो रही मौतों को सुप्रीम कोर्ट ने गंभीरता से लिया है. बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) से कराने को कहा है. चीफ जस्टिस जेएस खेहर ने मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि ब्लू व्हेल गेम खेलने वालों को खतरनाक चैलेंज किया जाता है. इसे खेलने वाले से कुछ भी करा लिया जाता है. ऐसे में मामले की NIA से जांच होनी चाहिए. 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement