NDTV Khabar

सऊदी अरब : पिछले साल हर रोज़ दो लोगों को दी गई सजा-ए-मौत : एमनेस्टी रिपोर्ट

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सऊदी अरब : पिछले साल हर रोज़ दो लोगों को दी गई सजा-ए-मौत : एमनेस्टी रिपोर्ट

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर...

दुबई :

एमनेस्टी इंटरनेशनल द्वारा आज जारी की गई एक रिपोर्ट में कहा गया है कि सऊदी अरब ने पिछले 12 माह में कम से कम 175 लोगों को मौत की सजा दी है। रिपोर्ट के अनुसार, हर दो दिन में औसतन एक व्यक्ति को मौत की सजा दी गई है।

43 पृष्ठीय रिपोर्ट 'न्याय के नाम पर हत्या: सऊदी अरब में मौत की सजा' में कहा गया कि जनवरी 1985 और जून 2015 के बीच कम से कम 2,208 लोगों को मौत की सजा दी गई।

असोसिएटेड प्रेस की आधिकारिक घोषणाओं पर आधारित आंकड़ों के अनुसार, सऊदी अरब ने जनवरी से अब तक 109 लोगों को मौत की सजा दी है। वर्ष 2014 में यह संख्या 83 थी।

टिप्पणियां

सऊदी अरब इस्लामी कानून की कड़ी व्याख्या का पालन करता है और हत्या, बलात्कार एवं नशीले पदार्थों की तस्करी जैसे कई अपराधों के लिए मौत की सजा देता है। यही नहीं कभी-कभी सऊदी अदालतें व्यभिचार, धर्म छोड़ने और काले जादू के लिए भी मौत की सजा दे देती हैं। हालांकि यह आम नहीं है। लोगों को उन अपराधों के लिए भी मौत की सजा दी जा सकती है, जो उन्होंने 18 साल से कम उम्र में किए थे।


एमनेस्टी के मध्यपूर्व और उत्तर अफ्रीका कार्यक्रम के कार्यवाहक निदेशक बोउमेदोउहा ने एक बयान में कहा, 'सऊदी अरब की दोषपूर्ण न्याय व्यवस्था व्यापक स्तर पर न्यायिक हत्याओं को बढ़ावा देती है।'



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement