Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

तेहरान में सऊदी दूतावास पर जबरदस्त प्रदर्शन, पेट्रोल बम फेंका गया : रिपोर्ट

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तेहरान में सऊदी दूतावास पर जबरदस्त प्रदर्शन, पेट्रोल बम फेंका गया : रिपोर्ट
तेहरान, ईरान :

सऊदी अरब में शिया नेता निम्र अल निम्र को मौत की सज़ा दिए जाने पर ईरान में लोग भड़क उठे हैं। शनिवार को लोगों ने तेहरान स्थित सऊदी दूतावास पर जबरदस्त प्रदर्शन किया और दूतावास पर पेट्रोल बम भी फेंक दिया। समाचार एजेंसी आईएसएनए के अनुसार बाद में पुलिस ने लोगों को दूतावास से दूर कर दिया।

साल 2011 से ही सऊदी में सरकार के खिलाफ प्रदर्शनों में मुख्य भूमिका निभाने वाले 56 वर्षीय शिया नेता निम्र अल निम्र को मौत की सजा दिए जाने के कुछ घंटों बाद तेहरान में यह ताजा घटना हुई है।

शिया नेता निम्र अल निम्र को मौत की सजा दिए जाने का ईरान और इराक में जबरदस्त विरोध हुआ है। निम्र ने एक दशक से भी ज्यादा समय तक ईरान में रहकर धर्मशास्त्र का अध्ययन किया था। वे उन 47 शिया और सुन्नी लोगों में शामिल थे, जिन्हें आतंकवाद के आरोप में शनिवार को मौत की सजा दी गई।

बता दें कि ईरान शिया बहुल देश है और उसे सुन्नी बहुल सऊदी अरब का राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी माना जाता है। निम्र अल निम्र को मौत की सजा दिए जाने पर ईरानी के विदेश मंत्रालय ने सऊदी अरब को धमकी देते हुए कहा था कि उसे इसकी क़ीमत चुकानी होगी।


प्रभावशाली शिया धर्मगुरु अयातुल्ला अहमद खातमी ने इसे ऐसा 'अपराध' क़रार दिया, जिससे सऊदी अरब के शाही परिवार का खात्मा हो जाएगा। खबर ये भी थी कि शिया नेता को मौत की सजा देने के खिलाफ बहरीन में प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े।

टिप्पणियां

लेबनान की शिया परिषद ने निम्र को मौत की सज़ा देने की निंदा करते हुए इसे बहुत बड़ी गलती बताया। इससे पहले, सऊदी अरब के आंतरिक मंत्रालय ने कहा कि चरमपंथी अपराधों में दोषी पाए गए 47 लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया, उनमें निम्र भी शामिल थे।

 



दिल्ली चुनाव (Elections 2020) के LIVE चुनाव परिणाम, यानी Delhi Election Results 2020 (दिल्ली इलेक्शन रिजल्ट 2020) तथा Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... तेलंगाना विधानसभा भी करेगी CAA के खिलाफ प्रस्ताव पारित, CM राव ने केंद्र से की कानून को वापस लेने की अपील

Advertisement